शातिर ने लगाया अमेज़न को सवा करोड़ का चुना, तरीका जानकार हैरान रह जाओगे

शातिर ने लगाया अमेज़न को सवा करोड़ का चुना, तरीका जानकार हैरान रह जाओगे

दुनिया की दिग्गज ऑनलाइन बिज़नस करने वाली कंपनी अमेज़न को एक युवक ने जालसाजी कर एक करोड़ से अधिक की चपत लगा दी. कंपनी ने मामला संज्ञान में आने के बाद आरोप...

सिंगापुर की ये कंपनी भारतीयों को दे रही है बिज़नस का मौका, सिर्फ 1 डॉलर में खोलिए ऑनलाइन स्टोर
ट्राई की सख्ती के बावजूद बड़े पैमाने पर की जा रही है फर्जी KYC, प्रशासन बेखबर
बिक गई फ्लिप्कार्ट, दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स डील हुई 16 अरब डॉलर में

दुनिया की दिग्गज ऑनलाइन बिज़नस करने वाली कंपनी अमेज़न को एक युवक ने जालसाजी कर एक करोड़ से अधिक की चपत लगा दी. कंपनी ने मामला संज्ञान में आने के बाद आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज़ करा दिया है. पुलिस ने केस दर्ज़ करने के बाद आरोपी समेत उसके कुछ सहयोगियों को गिरफ्तार कर लिया है. हालाँकि जांच में अभी तक ये साफ़ नहीं हो पाया है कि आरोपी ने इस फ्रॉड को अंजाम कैसे दिया.

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार इस मामले में कंपनी की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी दर्शन लाल को गिरफ्तार कर लिया गया है. कंपनी का कहना है कि दर्शन लाल कंपनी में बतौर डिलीवरी बॉय काम करता था. इसी काम के दौरान दर्शन और उसके सहयोगियों ने सितम्बर 2017 से फरवरी 2018 के बीच महज पांच महीनों में ही करीब 1.31 करोड़ के इस फ्रॉड को अंजाम दिया. कंपनी के अधिकारीयों के मुताबिक चिक्कमंगलूरु सिटी से इन पांच महीनो के दौरान 4604 आर्डर प्लेस किये गए थे. दर्शन के पास ग्राहकों से माल की डिलीवरी और ग्राहकों से आर्डर के पैसे लेने जिम्मेदारी थी. कंपनी को अंदेशा है कि दर्शन ने माल के डिलीवरी और पेमेंट रिसीव करने के लिए जिस सॉफ्टवेर का प्रयोग किया था सम्भवत उसमे कोई गड़बड़ी की हो जिससे कंपनी को पेमेंट का फर्जी कंफर्मेशन मिल जाता था.

कंपनी का कहना है कि आरोपी इतने शातिर थे कि कंपनी को कभी भी इनकी धोखाधड़ी पकड़ में नहीं आई, लेकिन जब कंपनी ने जब अपना तिमाही ऑडिट किया तो उनकी हेराफेरी की पोल खुल गई. हालाँकि अमेज़न ने कहा है कि हम साफ़ तौर पर नहीं कह सकते कि धोखाधड़ी किस तरह से की गई है. पुलिस ने आरोपियों के कब्ज़े से 25 लाख का सामान, 30 स्मार्टफोन, लैपटॉप और चार बाइक जब्त की है. पकड़ा गया 25 वर्षीय मुख्य अभियुक्त दर्शन लाल महज दसवीं तक पढ़ा है. पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है और जांच के बाद ही मामले तस्वीर साफ़ हो सकेगी.

COMMENTS

WORDPRESS: 1
DISQUS: 0