देश में चली मौत की आंधी, यूपी और राजस्‍थान में 90 से ज्यादा की मौत, सरकार ने किया मुआवजे का ऐलान

देश में चली मौत की आंधी, यूपी और राजस्‍थान में 90 से ज्यादा की मौत, सरकार ने किया मुआवजे का ऐलान

बुधवार शाम को आई भीषण आंधी-तूफ़ान देश के कई हिस्सों में जमकर तबाही मचाई. केवल यूपी और राजस्‍थान में ही इस तूफ़ान ने 96 लोगों की जान ले ली. कई पेड़ टूट गए...

मौसम अलर्ट: आंधी-तूफ़ान और बारिश की चेतावनी के बाद स्कूलों में छुट्टियाँ, डरे-सहमे से हैं लोग
गर्व है मुझे मेरे राजस्थान पर, होगा आपको भी गर्व जब पढ़ेंगें ये बातें
मौसम: अब तक की रिपोर्ट, कहीं बारिश- कहीं ओले और कहीं बर्फबारी, अब आगे की रिपोर्ट

बुधवार शाम को आई भीषण आंधी-तूफ़ान देश के कई हिस्सों में जमकर तबाही मचाई. केवल यूपी और राजस्‍थान में ही इस तूफ़ान ने 96 लोगों की जान ले ली. कई पेड़ टूट गए और कई जगह सड़कों पर पेड़ गिरने से आवागमन बाधित हो गया. इस तूफ़ान में कई जगहों पर मकान गिरने की वजह से भी भारी जान-मॉल का नुक्सान हुआ है. उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा 64 लोगों के मारे जाने की खबर है जिनसे से सबसे बुरा हाल आगरा है जहाँ 43 लोगों की जान गई है और 150 से ज्यादा पशु भी मारे गए हैं.

राजस्थान में भी तूफ़ान ने भयकंर तबाही मचाई है, जहाँ अब तक 31 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीँ, दिल्ली में भी बहुत तेज आंधी आई थी लेकिन अभी तक कोई जानमाल के नुक्सान की खबर नहीं है. पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्विट कर संवेदना प्रकट की है और प्रभावित राज्यों को इस संकट से निपटने के लिए मदद की पेशकश की है. प्रशासन की तरफ से राहत-बचाव काम जारी है. सरकार की ओर से मृतक परिवारों के लिए 4-4 लाख मुआवज़े का एलान किया गया है.

राजस्‍थान में अधिकतर लोगों की मौत छत गिरने या मकान गिरने से हुई है. कई जगह-जगह पेड़ गिर गए हैं. कई जगह बिजली के खंभे भी गिरे हैं,  जिसकी वजह से बुधवार शाम से ही अलवर और आसपास के इलाकों  में बिजली गुल है. स्टेट डिज़ास्टर रिलीफ़ फ़ोर्स की टीम को राहत और बचाव कार्य हेतु लगाया गया है. तेज आंधी की वजह से कई जगहों पर राह चलते वाहनों की आपस में टक्कर भी हुई. खेतों में तैयार फसलों को भी काफी नुकसान पहुंचा है.

उत्तराखंड के चमोली में बुधवार शाम बादल फटने से भारी तबाही की ख़बर है. नारायणबगड़ में कई घर और दुकानें मलबे के ढेर में दब गईं. जबकि तीन गाड़ियों के मलबे में दबने की भी ख़बर है. शिमला में भी बुधवार को जोरदार बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई जिससे सेब की फसल को भारी नुक्सान पहुंचा है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0