GST की दरों में फिर बड़ा बदलाव, 150 से ज्यादा चीजें हुई सस्ती

GST की दरों में फिर बड़ा बदलाव, 150 से ज्यादा चीजें हुई सस्ती

शुक्रवार का दिन कारोबारियों और ग्राहकों के लिए राहत का पैगाम लेकर आया. दरअसल सरकार ने जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद रोजमर्रा प्रयोग होने वाले बहुत से ...

पैट्रोल- डीजल को जीएसटी के दायरे में लाना अभी दूर की कौड़ी, ये है प्रमुख वजह
एटीएम का यूज़ करने वालों के लिए खुशखबरी, अब इन बैंकिंग सेवाओं पर नहीं लगेगा GST
बजट 2018: क्या होगा जेटली की पोटली में- जानिए कितना ख़ास होगा आम बजट ?

शुक्रवार का दिन कारोबारियों और ग्राहकों के लिए राहत का पैगाम लेकर आया. दरअसल सरकार ने जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद रोजमर्रा प्रयोग होने वाले बहुत से प्रोडक्ट्स पर जीएसटी की दरों में राहत देने का फैसला किया है. सरकार ने जीएसटी में बदलाव करने के लिए 150 से ज्यादा प्रोडक्ट्स को लिस्ट किया और उन पर 28% से जीएसटी दर घटाकर 18% करने की घोषणा कर दी.

फैसले के मुताबिक 174 वस्तुएं अब 28% की जीएसटी दर से 18% की दर के अंतर्गत करने के बाद अब मात्र 50 वस्तुएं ही 28% के दायरे में रहेंगी. सस्ती होने वाली 174 चीजें जिनमें चॉकलेट, कपड़े धोने का साबुन और बेकिंग पाउडर जैसी रोजमर्रा की अत्यावश्यक वस्तुएं शामिल है, आम उपभोक्ता को राहत प्रदान करेगी.

गौरतलब है की देश में शियासत के प्रमुख केंद्र बने जीएसटी में बदलाव के संकेत मिल रहे थे. अभी कुछ दिन पहले भी सरकार ने जीएसटी मामलों में कुछ संशोधन किये थे. जीएसटी काउंसिल की गुवाहाटी में दो दिन चली बैठक के समापन पर इस बारे में औपचारिक जानकारी दी गयी. हालाँकि ऐसा माना जा रहा है की केंद्र सरकार ने GST से दंगल जीतने की तैयारी में चुनावों से पहले ये ऐलान किया है. जानकारों के अनुसार सरकार की कोशिश का फायदा उसे गुजरात चुनावों के अलावा जनवरी 2019 में सात राज्यों में होने वाले चुनावों में भी मिल सकता है. नए सुधार के बाद आपको क्या क्या चीजें सस्ती मिलने वाली है उनकी लिस्ट पर एक नज़र….

हाथ घड़ी, डिटरजेंट, साबुन, ग्रेनाइट, शैंपू, डियोड्रेंट, च्युइंगम, चॉकलेट, मारबल, कैमरे, स्किन केयर, आफ्टर शेव, शॉपिंग बैग और सूटकेस इत्यादि.

जीएसटी काउंसिल की बैठक के बाद उम्मीद की जा रही है की कंपोजीशन स्कीम का दायरा भी बढ़ सकता है. इससे विशेष तौर पर छोटे कारोबारियों को फायदा मिलेगा. जो व्यापारी वर्ग जीएसटी के बाद सरकार से नाराज हुए थे सरकार की विशेष तौर पर उन्हें इसका लाभ देने की तैयारी है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0