इस होली के पर्व को ऐसे मनायें सुरक्षित और यादगार, कुछ ख़ास टिप्स जो देंगे आपको भरपूर खुशियाँ

इस होली के पर्व को ऐसे मनायें सुरक्षित और यादगार, कुछ ख़ास टिप्स जो देंगे आपको भरपूर खुशियाँ

भारत के प्रमुख त्यौहारों में से एक है होली. हिन्दू पंचांग के अनुसार फागुन माह की पूर्णिमा के दिन मनाया जाने वाला होली का पर्व इस वर्ष 2 मार्च को मनाया...

डोकलाम विवाद पर भारत की बड़ी रणनीतिक जीत, 72 दिन बाद डोकलाम से हटेगी सेना
दाऊद को बड़ा झटका, ब्रिटेन ने की अरबों डॉलर सम्पति जब्त
महीने भर से फरार चल रही हनिप्रीत को जान का खतरा, लगाई दिल्‍ली हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका

भारत के प्रमुख त्यौहारों में से एक है होली. हिन्दू पंचांग के अनुसार फागुन माह की पूर्णिमा के दिन मनाया जाने वाला होली का पर्व इस वर्ष 2 मार्च को मनाया जायेगा. रंगों के त्यौहार होली को देश में सभी भागों में उत्साह और उल्लास के साथ भिन्न-भिन्न तौर-तरीकों से मनाया जाता है.

आपसी वैर-भाव को भुलाकर भाईचारे और सौहार्द का प्रतीक इस होली के त्यौहार को सुरक्षित तरीके से मनाईये ताकि आपके लिए इस त्यौहार की खुशियाँ दुगुनी हो जाये. यहाँ हम आपको कुछ टिप्स बता रहें है जिन्हें आप फॉलो करके इस त्यौहार की खुशियों कई गुना बढ़ा सकते हैं और साथ ही कुछ आवश्यक सावधानियां भी, जिन्हें आप अपनाकर खुद के अलावा दूसरों का भी भला करेंगे.

  1. होली जरूर खेलिए लेकिन गुलाल से अपनी आँखों को बचाकर. ध्यान दें कि आपके द्वारा भी किसी की भी आँखों में गुलाल ना गिरने पाए, ये आँखों की लिए बहुत ही घातक होता है.
  2. होली के त्यौहार पर रंगों का प्रयोग जरूर करें लेकिन केमिकल युक्त रंगों के प्रयोग की बजाये हर्बल रंगों के इस्तेमाल पर ज्यादा जोर दें.
  3. बच्चों की त्वचा बहुत की नाज़ुक और कोमल होती है उन्हें रंग के प्रभाव से बचाएं. याद रखिये इस दिन छोटे बच्चों को भूल कर भी लाड प्यार के बहाने कोई घातक रंग ना लगा दें, रंग छुडाने में उनकी कोमल त्वचा को नुक्सान हो सकता है.
  4. इस दिन ध्यान रखें कि किसी बीमार पर या सर्दी-जुकाम से पीड़ित व्यक्ति पर ठन्डे पानी के प्रयोग से बचा जाये. एक ख़ास बात ओर, इस दिन किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को बेवजह या मज़ाक के उद्देश्य से तंग ना ही करें तो बेहतर होगा.
  5. समाज में हमारे कुछ ऐसे रिश्ते भी होते है जिनसे हंसी-ठिठोली भी हम कर सकते हैं जैसे भाभी या साली का रिश्ता. लेकिन होली खेलने या के बहाने इनसे फूहड़ता भरी हरकत या फिजूल की चुहलबाजी ना करें. ये सम्मानीय रिश्ते होते है इनका सम्मान करें और ऐसी हरकत ना करें जिसकी वजह से इन्हें समाज में शर्मिंदगी उठानी पड़े. होली इनके साथ जरूर खेलें लेकिन मर्यादा में रहकर.
  6. होली खेलने के लिए ज्यादा ठंडा पानी, कीचड़ या गोबर और किसी प्रकार के तेल या केमिकल वगैरा का प्रयोग बिल्कुल भी ना करें.

हमेशा याद रखिये आपके होली खेलने के बढ़िया और साफ़-सुथरे तरीके ही इस त्यौहार की मान-मर्यादा की जीवित रखेंगे. इस त्यौहार पर होली खेलने के बहाने लड़ाई-झगड़े करने या समाज में इंसान का कद छोटा हो, ऐसी हरकतें करने से आने वाले समय में इस परम्परा को बंद ही कर देंगे. सुरक्षित होली खेलिए ताकि ये पर्व एक यादगार बने आपके लिए ओर औरों के लिए भी.

दोस्तों, आपको हमारा ये लेख कैसा लगा? अपने अनमोल विचार जरूर दें. आपकी राय हमें ज्यादा बढ़िया लिखने को प्रेरित करेगी. हमसे जुड़े रहने के लिए निचे या ऊपर कोने में दिए गए ‘Follow’ बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको हमारे आने वाले लेख के नोटिफिकेशन मिल सकें.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0