मौसम: फिर आ सकता है तेज तूफ़ान, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी, इन जिलों में है ज्यादा खतरा

मौसम: फिर आ सकता है तेज तूफ़ान, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी, इन जिलों में है ज्यादा खतरा

बुधवार को देश के कई इलाकों में तबाही मचाने वाले तूफ़ान ने 100 से ज्यादा जिंदगियां लील ली. 150 किमी प्रति घंटे से भी तेज रफ़्तार से चले तूफ़ान ने यूपी और ...

मौसम: कुछ राज्यों में होने वाली है झमाझम बारिश तो कई जगहों पर जारी हुई चेतावनी
मौसम अलर्ट: आंधी-तूफ़ान और बारिश की चेतावनी के बाद स्कूलों में छुट्टियाँ, डरे-सहमे से हैं लोग
सावधान: मौसम विभाग ने फिर दी चेतावनी, अगले 48 घंटे इन राज्यों के लिए है खतरनाक

बुधवार को देश के कई इलाकों में तबाही मचाने वाले तूफ़ान ने 100 से ज्यादा जिंदगियां लील ली. 150 किमी प्रति घंटे से भी तेज रफ़्तार से चले तूफ़ान ने यूपी और राजस्थान के कई हिस्सों में जमकर तांडव मचाया. शुक्रवार को फिर मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करके लोगों को चेताया है. मौसम विभाग का कहना है कि एक बार फिर तूफ़ान जम्‍मू-कश्‍मीर, हरियाणा, दिल्‍ली, उत्‍तराखंड, पंजाब, चंडीगढ़ और पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश में फिर तबाही मचा सकता है.

इसके अलावा हिमाचल प्रदेश, नगालैंड, मिजोरम, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, असम, मेघालय, ओडीशा और केरल में तेज हवाएं चलने आने की आशंका है. वैज्ञानिकों ने तूफ़ान के साथ तेज बारिश और कई जगह ओले गिरने की भी सम्भावना व्यक्त की है. विभाग के अनुसार ठंडी हवाओं का तूफान का रूप लेने के पीछे ‘डाउनबर्स्‍ट’ का कारण है, अर्थात हवा चलने के दौरान डाउनवर्ड एयर मूवमेंट उसे तूफान में तब्‍दील कर देता है. इस दौरान तेज हवाएं चलने लगती है और फिर ये तूफ़ान का रूप ले लेती है.

नेशनल जियोग्राफिक में छपी खबर के मुताबिक मौसम विज्ञानियों का कहना है की इस बदलाव का बड़ा कारण जलवायु परिवर्तन है. उन्होंने कहा की प्रकृति के साथ छेड़छाड़ के कारण ये विपदाएं आ रही है. समुद्र का उफनाना, जंगलों का कटना, तपती धरती, ग्‍लेशियर का पिघलना और बादलों का फटना जलवायु परिवर्तन का मुख्य संकेत है. दिनोंदिन संसार में ऐसी आपदाओं की संख्या बढती ही जा रही है. अमेरिका और तटवर्ती देश साल में कई बार खतरनाक तूफानों का प्रकोप झेलते हैं.

यह भी पढ़ें: अगर आप भी यूज़ करते हैं ट्विटर तो तुरंत बदल लें अपना पासवर्ड, Twitter ने जारी की चेतावनी

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0