मोदी सरकार का बड़ा फैसला, अब इलाहाबाद का नाम हो जायेगा प्रयागराज

मोदी सरकार का बड़ा फैसला, अब इलाहाबाद का नाम हो जायेगा प्रयागराज

संगम नगरी के नाम से मशहूर शहर इलाहाबाद का नाम अब जल्द ही इतिहास की बात हो जाएगी, सरकार उसका नाम बदलकर प्रयागराज करने जा रही है. योगी सरकार ने इलाहाबाद...

पाकिस्तान ने दी बीजेपी अध्यक्ष को जान से मारने की धमकी, कराची से आया फ़ोन
अगर करते हैं नशा तो हो जाएं सावधान, टूट सकती है आपकी सगाई
अमेरिका के सहयोग से तोड़ी जा रही पाकिस्तानी और ISIS आतंकियों की कमर

संगम नगरी के नाम से मशहूर शहर इलाहाबाद का नाम अब जल्द ही इतिहास की बात हो जाएगी, सरकार उसका नाम बदलकर प्रयागराज करने जा रही है. योगी सरकार ने इलाहाबाद का नाम बदलने की प्रक्रिया शुरू कर दी है और ये 2019 के अर्द्ध कुंभ मेले से पहले पूरी कर ली जाएगी. प्रशासन की तरफ से आदेश जारी होने के बाद इलाहाबाद को अधिकारिक तौर पर एक बार फिर प्रयागराज के नाम से जाना जायेगा.

सिरसा से पूर्व विधायक प्रो. गणेशीलाल बने ओडिशा के नए राज्यपाल

इलाहाबाद को त्रिवेणी के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि यहाँ तीन पवित्र नदियों गंगा,यमुना और सरस्वती का संगम होता है. इसी कारण से इलाहाबाद एक पवित्र स्थल के तौर पर भी जाना जाता है खासकर हिन्दुओं के लिए. यहाँ प्रत्येक बारह साल के अंतराल पर कुंभ मेले का शुभ आयोजन भी होता है, जहाँ करोड़ों लोग बड़ी आस्था के साथ हर मेले में पहुँचते हैं और स्नान कर पुन्य के भागी बनते हैं. इतिहासकारों के अनुसार इलाहाबाद का पुराना नाम प्रयाग ही था जिसे 1575 में मुगल शासक अकबर ने बदलकर इलाहाबाद कर दिया था.

न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सदियों से इलाहाबाद की पहचान प्रयाग के नाम से है इसीलिये सरकार ने इसका नाम बदल कर फिर से प्रयागराज करने का महत्वपूर्ण फैसला लिया है. मीडिया खबरों के अनुसार अगले साल लगने वाले कुंभ मेले के लिए बनाए जाने वाले सभी बैनरों में भी शहर का नाम प्रयागराज ही लिखवाया जायेगा. इसके अलावा कुंभ मेले के लिए गठित प्राधिकरण के नाम में भी इलाहाबाद का नाम प्रयागराज लिखा गया है.

बेलगाम पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर आखिरकार टूटी सरकार की नींद, दिए GST में लाने के संकेत

COMMENTS

WORDPRESS: 1
DISQUS: 0