मोदी सरकार की ‘धन धना धन’ योजना, कीजिये सिर्फ ये काम और ले जाईये एक करोड़ से पांच करोड़ तक नकद

मोदी सरकार की ‘धन धना धन’ योजना, कीजिये सिर्फ ये काम और ले जाईये एक करोड़ से पांच करोड़ तक नकद

आयकर विभाग ने बेनामी सम्पति पर शिकंजा कसने के लिए कड़ा कदम उठाते हुए ‘बेनामी ट्रांजैक्शंस इन्फर्मेंट्स रिवॉर्ड स्कीम शुरू की है. वित्त मन्त्रालय ने इस ...

नोटबंदी के बाद मोदी सरकार का दूसरा बड़ा झटका, बंद हो सकता है चेक से लेनदेन
सरकार का बैंकों को अल्टीमेटम, 15 दिन में करें फ्रॉड रोकने के उपाय
देश में बढ़ रहे असहिष्णुता के माहौल से मुसलमानों में बैचेनी: हामिद अंसारी

आयकर विभाग ने बेनामी सम्पति पर शिकंजा कसने के लिए कड़ा कदम उठाते हुए ‘बेनामी ट्रांजैक्शंस इन्फर्मेंट्स रिवॉर्ड स्कीम शुरू की है. वित्त मन्त्रालय ने इस योजना के तहत किसी बेनामी सम्पति की जानकारी देने वाले को एक करोड़ रूपये का इनाम देने की घोषणा की है. इसके अंतर्गत अगर किसी भी व्यक्ति द्वारा बेनामी प्रहिबिशन यूनिट्स में जॉइंट या अडिशनल कमिश्नर के समक्ष ऐसी जानकारी दी जाती है या फिर किसी ऐसी बेनामी सम्पति की जानकारी इनकम टैक्स विभाग के इन्वेस्टिगेशन डायरेक्टोरेट को दी जाती है तो उसे डिपार्टमेंट की तरफ से पांच करोड़ का नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया जायेगा.

मर्जर के बाद बदल जायेगा आईडिया-वोडाफोन का नाम, इस नाम से बन सकती है देश की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी

आपको बता दें कि अभी कुछ समय पूर्व ही सरकार ने 1988 के बेनामी ऐक्ट में संसोधन कर बेनामी ट्रांजैक्शंस ऐक्ट, 2016 पारित किया है. अब बेनामी संपत्तियों की खोज करने में आमजन के सहयोग को प्राप्त करने के लिए सरकार ने इस योजना को घोषणा की है. इस योजना के तहत बेनामी लेनदेन और संपत्तियों को उजागर करने और इनसे प्राप्त इनकम के जुडी जानकारी देने वालों को ये इनाम हासिल होगा.

वित्त मंत्रालय ने कहा है की इस स्कीम का फायदा देश के नागरिकों के अलावा विदेशी नागरिक भी उठा सकते हैं और ऐसी जानकारी देने वालों का नाम और पहचान गुप्त रखी जाएगी. बेनामी ट्रांजैक्शंस इन्फर्मेंट्स रिवॉर्ड स्कीम, 2018 के बारे में अधिक जानकारी लेने के लिए इनकम टैक्स के ऑफिस और वेबसाइट पर विजिट किया जा सकता है.

इस योजना के अलावा भी सरकार ने टैक्स चोरी के मामलों में भी सख्त कदम उठाते हुए टैक्स चोरी के बारे में जानकारी देने वालों के लिए भी 50 लाख रूपये की इनामी योजना का ऐलान किया है. इसके लिए 1961 के आईटी ऐक्ट के तहत सरकार ने इनकम टैक्स इनफर्मेंट्स रिवॉर्ड स्कीम शुरू की है. इस योजना के अंतर्गत अगर कोई व्यक्ति टैक्स चोरी के मामले की जानकारी आयकर डिपार्टमेंट के जांच निदेशालय में देता है तो इस इनाम का हकदार होगा.

इस पहेली को हल करने पर मोदी सरकार दे रही है हज़ारों के इनाम, आप भी कीजिये ट्राई

COMMENTS

WORDPRESS: 1
DISQUS: 0