अब हवा भी बिक रही ऑनलाइन, बढ़ते प्रदूषण ने खड़ा किया नया बिज़नस

अब हवा भी बिक रही ऑनलाइन, बढ़ते प्रदूषण ने खड़ा किया नया बिज़नस

एक ओर जहाँ बढ़ता प्रदूषण लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है वहीँ दूसरी तरफ ये कुछ लोगों के लिए फायदे का सौदा साबित हो रहा है. दिल्ली और उसके आसपास...

चीन मचा सकता है पूर्वोतर में भारी तबाही, अरुणाचल प्रदेश और आसपास के इलाकों में अलर्ट
आख़िरकार चीन ने ड़ोकलाम विवाद पर तोड़ी चुप्पी, कहा- कई दौर की बातचीत से निकला हल
दलाई लामा से सम्बन्ध रखने वाला कोई भी देश होगा चीन का अपराधी

एक ओर जहाँ बढ़ता प्रदूषण लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है वहीँ दूसरी तरफ ये कुछ लोगों के लिए फायदे का सौदा साबित हो रहा है. दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में प्रदूषण खतरनाक स्तर तक पहुँच चुका है और वहां मास्क की बिक्री में जबरदस्त उछाल देखने को मिल रहा है. वहीँ, आप स्वच्छ हवा भी ऑनलाइन खरीद सकते हो.

सरकार की तरफ से प्रदूषण नियंत्रण के लिए आवश्यक कदम भी उठाये जा रहे है लेकिन आजकल जो बिज़नस जोर पकड़ने लगा है वो है स्वच्छ हवा की बिक्री. सबसे पहले चीन में शुरू हुआ ये कारोबार अब भारत समेत पाकिस्तान, अफगानिस्तान और ईरान में भी फल-फूल रहा है. भारत में ऑनलाइन हवा बेचने के इस कारोबार में अभी तक तीन चार कंपनियों ने एंट्री मारी है. इसमें कनाडा और स्विट्जरलैंड के कुछ लोग जुड़े हुए हैं. आपको अमेज़न पर 8 लीटर की विटैलिटी एयर बोतल की कीमत 1200 रूपए में मिल जाएगी.

ब्रिटेन की द वेट्स और विटैलिटी एयर ये दोनों कंपनियां प्रदूषण के दम पर खासी कमाई कर रही है. सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार विटैलिटी एयर ने तो दावा यहाँ तक किया है की उसकी स्वच्छ हवा की बोतलों की मांग चीन में बहुत ज्यादा बढ़ गयी है. सीएनएन ने कहा की विटैलिटी एयर कई सजे के बड़े और छोटे कनस्तरों में साफ़ हवा भरती है और इसे 10 डॉलर से 20 डॉलर तक बेच कर अच्छा खासा मुनाफा कमा रही है.

एक नुमन के मुताबिक जिस गति से वायु प्रदूषण बढ़ रहा है उसे देख कर सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है की वो दिन दूर नहीं जब ऑनलाइन हवा खरीद बेच का बिज़नस अपने पैर पूरी तरह पसार लेगा.

COMMENTS