उत्तर प्रदेश में फिर टुटा बच्चों पर कहर, 300 से ज्यादा बच्चे गैस रिसाव की चपेट में

उत्तर प्रदेश में फिर टुटा बच्चों पर कहर, 300 से ज्यादा बच्चे गैस रिसाव की चपेट में

पश्चिमी उत्तर प्रदेश से एक बड़ी घटना सामने आई है. उत्तर प्रदेश के जिला शामली में सुगर मील में गैस रिसाव की वजह से 300 से ज्यादा बच्चे बीमार हो गए. घटना...

अजब गजब: कभी ना होने वाला सपना हुआ सच, बेटी ने दिया माँ के गर्भाशय से बच्चे को जन्म
सलमान खान फिर घिरे विवादों में, बुजुर्ग दंपति ने लगाया जमीन हड़पने का सनसनीखेज आरोप
राहुल गाँधी की बदजुबानी, पीएम मोदी के लिए कहे आपत्तिजनक शब्द- जानिए क्या कहा

पश्चिमी उत्तर प्रदेश से एक बड़ी घटना सामने आई है. उत्तर प्रदेश के जिला शामली में सुगर मील में गैस रिसाव की वजह से 300 से ज्यादा बच्चे बीमार हो गए. घटना मंगलवार सुबह की है जब सुगर मील के पास बुढ़ाना रोड पर एक प्राइवेट स्कूल सरस्वती शिशु मंदिर है और एक अन्य स्कूल में 300 से ज्यादा बच्चे गैस रिसाव की चपेट में आ गए.

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के शामली में दो स्कूलों में अचानक अफरा तफरी मच गयी जब बच्चे अचानक ही बेहोश हो गए और कुछ बच्चों को पेट, गले, आंख और शरीर के दूसरे अंगों में जलन की शिकायत हुई. स्कूल प्रशासन के हाथ पाँव फूल गए और आनन् फानन में बच्चों को नजदीकी अस्पतालों में पहुँचाया गया. मामले की जानकारी मिलने पर प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली. बीमार बच्चों की संख्या ज्यादा होने पर जिला अस्पताल से निजी अस्पतालों में बच्चों को रेफर किया गया. बताया जा रहा है की स्कूलों के पास में ही सुगर मील है और अक्टूबर में ही गन्ने की पिराई शुरू होने की वजह से चीनी मील के नए सत्र की तैयारियां चल रही है. और इसी मुरम्मत का कार्य चलने की वजह से मील के किन्ही कर्मचारियों की लापरवाही के चलते गैस लीकेज हो गयी.

बताया जा रहा है कि इस केमिकल की महक इतनी ज्यादा थी कि स्कूल के बच्चों पर इसका प्रभाव पड़ने लगा. देखते ही देखते बच्चों के गले में जलन, छाती में जलन और घबराहट होने लगी. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक गैस की वजह से बीमार बच्चों को अस्पताल ले जाया गया लेकिन अस्पताल में भी उचित बंदोबस्त न होने की वजह से भरी परेशानियों का सामना भी करना पड़ा.

अस्पताल प्रशासन के भी इतनी बड़ी संख्या में बच्चों के आने की वजह से हाथ पाँव फूल गए. आनन फानन में डाक्टरों की टीमें बुलाई गयी. अस्पताल के सारे बेड फुल होने की वजह से बच्चों को दुसरे निजी अस्पतालों में शिफ्ट किया गया. बीमार बच्चों में लगभग 30 बच्चों की हालत गंभीर बताई जा रही है. उन्हें निजी अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है. इस घटना के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कमिश्नर सहारनपुर, डीएम और सभी स्थानीय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि प्रभावित बच्चों को हर संभव मदद उपलब्ध कराई जाए. मुख्यमंत्री ने तत्काल जाँच के आदेश दे दिए है.

COMMENTS