केंद्र सरकार के इस नियम ने किया ग्राहकों को कसाईयों के हवाले, कोई बचाने वाला नहीं

केंद्र सरकार के इस नियम ने किया ग्राहकों को कसाईयों के हवाले, कोई बचाने वाला नहीं

तेल कंपनियों की मनमानी, दो महीने में 12 फीसदी तक बढ़ गए पैट्रोल-डीजल के दाम

khabridada: जब से केंद्र सरकार ने तेल कीमतों में रोजाना बदलाव के निर्णय को हरी झंडी दी है तब से लेकर अब तक शुरूआत के कुछ दिन छोड़ दें तो ज्यादातर तेल क...

नोटबंदी के बाद मोदी सरकार का दूसरा बड़ा झटका, बंद हो सकता है चेक से लेनदेन
सरकार की इस नयी नीति से जल्द ही सस्ता हो जायेगा पैट्रोल
मोदी सरकार की ‘धन धना धन’ योजना, कीजिये सिर्फ ये काम और ले जाईये एक करोड़ से पांच करोड़ तक नकद

khabridada: जब से केंद्र सरकार ने तेल कीमतों में रोजाना बदलाव के निर्णय को हरी झंडी दी है तब से लेकर अब तक शुरूआत के कुछ दिन छोड़ दें तो ज्यादातर तेल की कीमतों में बढ़ोतरी ही हुई है. 16 जून से लागू किये नियम से उपभोक्ताओं को एक आस बंधी थी की रोज तेल की कीमत निर्धारण नियम से उन्हें लगातार बढ़ रही पैट्रोल-डीजल के दामों से कुछ राहत मिलेगी. उन्हें अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कम होते कच्चे तेल की कीमतों से फायदा मिलने वाला है, लेकिन हुआ इसके बिलकुल उलट.

मनमानी पर उतारू तेल कंपनियां चुपचाप पिछले कुछ समय से उपभोक्ताओं की जेब पर कतरनी चला रही है. डेढ़ महीने के मामूली समय में पैट्रोल और डीजल के दाम 5 रूपए तक बढ़ा दिए है. मोदी सरकार के साथ कदमताल मिलकर चल रही तेल कंपनियां दोनों हाथों से मुनाफ़ा बटौर रही है. उपभोक्ताओं के हितों का ढिंढोरा पीटने वाले किसी संगठन, पार्टी को कानोंकान खबर भी नहीं हुई. पहले तेल की कीमतों पर 2 या 3 रूपए की बढौतरी पर हल्ला मच जाता था. महीने भर में ही 12 फीसदी तक की तेल कीमतों में बढौतरी अपने आप में एक रिकॉर्ड है. तेल कीमतों में रोज बदलाव के नियम को केंद्र सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद तेल कंपनियां उलटे छुरे से ग्राहकों को काट रही है, कहीं कोई मोदी सरकार के इस कदम का ना तो कोई विरोध करने वाला नज़र आ रहा है ना ही कोई चर्चा ही कर रहा है, बिना मुद्दे के चिल्लाने वाली मीडिया चुप्पी साधे पड़ी है.

आइये जानते है दो महीने में पेट्रोल और डीजल की कीमतों का फासला:

16 जून शुक्रवार से दिल्ली में पेट्रोल के दाम 65.48 रुपये प्रति लीटर हुए थे जो पहले 66.91 रुपये प्रति लीटर थे. वहीं, डीजल के दाम 54.49 रुपये प्रति लीटर हो गए थे, जो पहले 55.94 रुपये थे.

20 अगस्त 2017 को दिल्ली में पेट्रोल के दाम 68.48 रूपए प्रति लीटर है जबकि डीजल 57.07 रूपए प्रति लीटर है

COMMENTS