जांच में फिर फ़ैल हुई मैगी, प्रशासन ने ठोका जुर्माना

जांच में फिर फ़ैल हुई मैगी, प्रशासन ने ठोका जुर्माना

नेस्ले के मशहूर ब्रांड मैगी पर एक बार फिर कथित तौर पर जांच में फ़ैल होने पर जुर्माना लगाया गया है. उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर के जिला प्रशासन ने मैगी ...

रसगुल्ले खाने से स्वास्थ्य को मिलते हैं ये फायदे
J&K: WhatsApp और Facebook चलाने के लिए कराना होगा रजिस्ट्रेशन, नहीं तो हो जाएगी जेल
अगर आप भी करते हो गाड़ी चलाते समय फ़ोन पर बात तो हो जाएँ सावधान, अब कोर्ट करेगा आपका ‘इलाज’

नेस्ले के मशहूर ब्रांड मैगी पर एक बार फिर कथित तौर पर जांच में फ़ैल होने पर जुर्माना लगाया गया है. उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर के जिला प्रशासन ने मैगी के लोकप्रिय उत्पाद के लैब जांच में फ़ैल होने पर ये कदम उठाया है. जिला प्रशासन ने नेस्ले इंडिया और इसके वितरकों पर जुर्माना लगाया है.

जिला प्रशासन ने नेस्ले इंडिया पर 45 लाख रूपए और इसके 3 सप्लायर्स पर 15 लाख रूपए तथा 2 अन्य विक्रेताओं पर 11 लाख रूपए प्रत्येक का जुर्माना लगाया गया है. अधिकारीयों के अनुसार विभाग ने पिछले साल नवम्बर में जांच के लिए सैम्पल भरे थे और उन्हें जांच के लिए लैब में भेजा गया था. जांच रिपोर्ट में पाया गया की मैगी के सैम्पल में निर्धारित सीमा से ज्यादा मात्रा में राख पायी गयी थी.

हालांकि नेस्ले ने जांच के नतीजों पर सवाल उठाते हुए कहा है की अभी तक नेस्ले इंडिया को आदेश की प्रति प्राप्त नहीं हुई है और आदेश की प्रति मिलते ही वह अपील दायर करेगी. नेस्ले के प्रवक्ता ने कहा है की, “निर्णय करने वाले अधिकारी की ओर से पारित आदेश हमें प्राप्त नहीं हुए हैं, लेकिन हमें बताया गया है कि ये नमूने 2015 के हैं और यह मुद्दा नूडल्स में राख की मात्रा से जुड़ा है.” नेस्ले इंडिया के प्रवक्ता के अनुसार, “’ऐसा लगता है कि यह त्रुटिपूर्ण मानकों को प्रयोग में लाने का मामला है और हम आदेश प्राप्त करते ही तुरंत अपील दायर करेंगे.”

COMMENTS