दाऊद हुआ अपंग, अपना अंतिम समय बिताना चाहता है भारत में- राज ठाकरे

दाऊद हुआ अपंग, अपना अंतिम समय बिताना चाहता है भारत में- राज ठाकरे

दाऊद अब अपंग हो चुका है और अपना अंतिम समय अपनी मातृभूमि भारत में गुजारना चाहता है. ये कहना है महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे का. राज ठ...

मस्त चुटकियाँ- ख़ुशी और गम को जाहिर करने के बाद भी उनको ऐसे रख सकते है गुप्त
मौसम: फिर आ सकता है तेज तूफ़ान, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी, इन जिलों में है ज्यादा खतरा
Box Office: संजू की धुँआधार कमाई ने तोड़े रिकॉर्ड, दो दिनों में हुई इतनी कमाई की पीछे रह गए सलमान

दाऊद अब अपंग हो चुका है और अपना अंतिम समय अपनी मातृभूमि भारत में गुजारना चाहता है. ये कहना है महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे का.

राज ठाकरे ने आज मुंबई में अपने फेसबुक पेज का उद्घाटन करते हुए एक सनसनीखेज खुलासा किया. उन्होंने कहा कि अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद खुद भारत आने का इच्छुक है. वह अपंग हो चुका है. उन्होंने मोदी एवं फड़णवीस सरकार पर कई सनसनीखेज आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार बार-बार कहती है कि वह दाऊद को भारत लाकर रहेगी, जबकि दाऊद खुद अपंग होने के बाद भारत आना चाहता है. केंद्र सरकार उसे यह मौका देकर उसे भारत लाने का श्रेय लेना चाहती है.

राज ठाकरे ने कहा कि इसके लिए केंद्र सरकार से उसकी बातचीत शुरू है. और सरकार इसे चुनावी मुद्दा बनाना चाहती है. और इसके जरिये यह दावा करते हुए चुनाव में फायदा उठाने की कोशिश कर रही है कि हमने दाऊद को भारत लाने का वायदा पूरा किया. ठाकरे यहीं नहीं रुके, उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधे टिप्पणी करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने सत्ता में आने के लिए झूट का सहारा लिया और जिस सोशल मीडिया का उपयोग करके मोदी सत्ता में आये उसमें मोदी के ट्वीटर एकाउंट में 48 फीसद से ज्यादा और राहुल गांधी के ट्वीटर एकाउंट में 54 फीसद से भी ज्यादा फॉलोवर्स फर्जी हैं.

 

राज ठाकरे ने सवाल उठाया कि देश भर में किसान आत्महत्या कर रहे हैं, उनके लिए कुछ करने के बजाय बुलेट ट्रेन पर करोड़ों रुपए खर्च करने की आवश्यकता क्या है? उन्होंने मोदी सरकार की महत्त्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन परियोजना पर सवाल उठाया कि मुंबई और अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन की जरूरत ही नहीं है. मोदी का इरादा स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा ही मोदी ने मेट्रो रेल का मार्ग इस प्रकार तैयार किया गया है, जिसके आसपास महंगे फ्लैट बनाए जा सकें ताकि उन महंगे फ्लेट को केवल गुजराती ही खरीद सकें.

राज ठाकरे ने मुंबई की नई मेट्रो रेल परियोजना पर भी अपना चिरपरिचित मराठी कार्ड खेलने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि मोदी की इस परियोजना से मराठियों को कोई फायदा नहीं होगा. लेकिन मुंबई हमारी थी, हमारी है और हमारी ही रहेगी.

 

 

COMMENTS