दुनिया के लिए खतरा बने किम जोंग ने फिर दागी मिसाइल, पूरी दुनिया के हर कोने में है इसकी पहुँच

दुनिया के लिए खतरा बने किम जोंग ने फिर दागी मिसाइल, पूरी दुनिया के हर कोने में है इसकी पहुँच

बुधवार सुबह उत्तर कोरिया ने फिर बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया, जिसके बाद से ही एक बार उत्तर कोरिया को लेकर दुनिया भर में आशकाओं का पहाड़ टूट पड़ा...

जानिए कैसे बनाती है फेसबुक जैसी कंपनियां आपको बेवकूफ, कैसे होता है आपकी निजी जानकारी का दुरूपयोग?
भारत के लिए खतरे की घंटी, पाकिस्तान बन सकता है दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी एटमी ताकत
डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग की बयानबाजी पर रूस का बड़ा बयान

बुधवार सुबह उत्तर कोरिया ने फिर बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया, जिसके बाद से ही एक बार उत्तर कोरिया को लेकर दुनिया भर में आशकाओं का पहाड़ टूट पड़ा है. इस मिसाइल के बिना किसी को नुक्सान पहुंचाए जापान सागर में गिरने के बाद जापान समेत अमेरिका और अन्य देशों में उत्तर कोरिया के इस कदम की निंदा की जा रही है. अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैतिस ने आशंका व्यक्त की है कि उत्तर कोरिया शायद ऐसी मिसाइलें विकसित कर रहा है जिनसे दुनिया के किसी भी कोने में लक्ष्य को भेदा जा सके.

अमेरिका के अनुसार लगभग दो माह की शांति के बाद प्योंगयांग ने एक Hwasong-15 नामक इंटरकांटिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल (आईसीबीएम) का प्रक्षेपण किया. इस बैलिस्टिक मिसाइल ने अब से पहले दागी गयी सभी मिसाइलों से अधिक ऊँची उड़ान भरी. उत्तर कोरिया के सरकारी न्यूज़ चैनल के मुताबिक हमने एक अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया है. उसकी पहुँच में पूरा अमेरिकी महाद्वीप आ गया है. यह घोषणा उत्तर कोरिया के सरकारी टेलीविज़न पर नेता किम जोंग ने की.

जापानी प्रधानमंत्री शिजों आबे ने इसे एक हिंसक कृत्य कहा है उन्होंने कहा है की इसे कतई बर्दाशत नहीं किया जा सकता. ऐसी ही प्रतिक्रिया अमेरिका और दक्षिण कोरिया ने भी दी है और उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का सत्र तत्काल बुलाने की मांग की है. शिंजो आबे ने कहा है की, “हम किसी भी उकसाने वाले कृत्य के आगे नहीं झुकेंगे. हम अपना अधिकतम दबाव बनाएंगे.”

अमेरिका के रक्षा विभाग ने कहा है की हमने पता किया की इस मिसाइल को उत्तर कोरिया द्वारा दोपहर को एक बजकर 17 मिनट पर प्रक्षेपित किया गया था. के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और दक्षिण कोरिया के उनके समकक्ष मून जे-इन ने हॉटलाइन पर बातचीत की और इसे पूरी दुनिया के लिए खतरा बताया.

COMMENTS