यूपी में मदरसों को इलाहाबाद हाईकोर्ट का झटका, गाना होगा राष्ट्रगान

यूपी में मदरसों को इलाहाबाद हाईकोर्ट का झटका, गाना होगा राष्ट्रगान

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मदरसों में राष्ट्रगान गाने के योगी सरकार के फैसले के खिलाफ दाखिल याचिका को खारिज कर दिया है. अदालत ने राष्ट्रगान गाने से छूट मांग...

कांग्रेस का घोषणापत्र: पैट्रोल-डीज़ल समेत बिजली आधे दामों पर और युवाओं को स्मार्टफोन और लैपटॉप
नहीं रहे राजनीति के ‘भीष्म पितामह’ अटल बिहारी वाजपेयी, देश को हुई अपूर्णीय क्षति
5th क्लास के बच्चे ने लिखा गाय पर निबंध, अगर पढ़ लिया तो आपके कान-आँख और मुंह खुला रह जायेगा

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मदरसों में राष्ट्रगान गाने के योगी सरकार के फैसले के खिलाफ दाखिल याचिका को खारिज कर दिया है. अदालत ने राष्ट्रगान गाने से छूट मांगने वाली याचिका को लेकर मदसरों को करारा झटका दिया है. अदालत ने इसे सवैधानिक कर्तव्य मानते हुए योगी सरकार के फैसले को बरकरार रखा.

अदालत ने इस मामले के संदर्भ में कहा कि राष्ट्रगान और राष्ट्रध्वज का सम्मान करना सभी नागरिकों का सवैधानिक कर्तव्य है. लिहाजा जाति, धर्म और भाषा के आधार पर इसमें किसी तरह का भेदभाव नहीं किया जा सकता है. और ना ही इसे जाती और धर्म से जोड़कर देखा जाना चिहिए.

गौरतलब है कि एक याचिकाकर्ता अलाउल मुस्तफा ने मदरसों को राष्ट्रगान गाने से छूट की मांग को लेकर याचिका दाखिल की थी. इसमें राज्य सरकार के उस आदेश को चुनौती दी गई थी जिसमे योगी सरकार ने मदरसों में राष्ट्रगान गाने को अनिवार्य किया था. इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डीबी भोसले और जस्टिस यशवंत वर्मा की खण्ड पीठ ने आदेश दिया कि मदरसों को राष्ट्रगान गाने से छूट नहीं है.

योगी सरकार के इस आदेश के बाद इस बार स्वतंत्रता दिवस के दिन यूपी के मदरसों में तिरंगा फहराया गया था. योगी सरकार ने प्रदेश के सभी अनुदान प्राप्त मदरसों को स्वतंत्रता दिवस मनाने के निर्देश दिए थे. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में भी तिरंगा फहराकर आजादी की 71वीं सालगिरह मनाई गई थी. जगह-जगह वंदे मातरम के नारों के साथ मदरसे के बच्चों ने देश भक्ति के गीत गाए थे. केवल गिने चुने मामलों को छोड़ दें तो प्रदेश में इसका पालन भी किया गया था.

COMMENTS