राजधानी में फिर लागू होगा ऑड-ईवन फॉर्मूला, प्रदूषण को देखते हुए लिया निर्णय

राजधानी में फिर लागू होगा ऑड-ईवन फॉर्मूला, प्रदूषण को देखते हुए लिया निर्णय

देश की राजधानी दिल्ली में प्रदूषण की खतरनाक स्थिति को देखते हुए सरकार फिर से ऑड-ईवन फॉर्मूले को लागू करने वाली है. अब की बार इस फॉर्मूले को पांच दिनों...

आज के दिन जन्मी नन्ही परियों की चाँदी, माँ-बेटी दोनों को सरकार का तोहफा
जिसे जिन्दगी का मर्म समझ आ गया मानो जीना आ गया
सिर्फ दो दिन में ही बदल गए जीत के समीकरण, वरना बन जाती इनेलो की सरकार- औमप्रकाश चौटाला

देश की राजधानी दिल्ली में प्रदूषण की खतरनाक स्थिति को देखते हुए सरकार फिर से ऑड-ईवन फॉर्मूले को लागू करने वाली है. अब की बार इस फॉर्मूले को पांच दिनों के लिए लागू किया जायेगा. सरकार ने इस बाबत 13 नवम्बर की तारीख तय की है. इस नियम में दुपहिया और सीनएजी वाहनों छूट दी गयी है.

परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया की सम-विषम नियम के अंतर्गत एक दिन उन निजी वाहनों को चलने की छूट होगी जिनके पंजीकरण प्लेट के आखिर में संख्या सम होगी और दुसरे दिन वे वाहन चलेंगे जिनके पंजीकरण प्लेट में आखरी संख्या विषम होगी. गौरतलब है की इसी योजना का पहला चरण पिछले साल 1 जनवरी से 15 जनवरी के बीच और दूसरा चरण 15 अप्रैल से 30 अप्रैल के बीच लागू किया गया था.

इस योजना के बारे में परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने आगे बताया की सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक ऑड-ईवन फॉर्मूला प्रभावी होगा. जिसमे तीन दिन (13, 15 और 17 तारीख) को ऑड नंबर की गाड़ियाँ चलाया जाना निश्चित किया गया है, दो दिन (14 और 16 नवंबर) को ईवन नंबर की गाड़ियां चलेंगी. शुक्रवार को दो बजे के बाद से दिल्ली के 22 सीएनजी स्‍टेशनों पर कारों के लिए IGL स्‍टीकर्स मिलेंगे.

कैलाश गहलोत ने कहा की जल्द ही कैब और टैक्सी चालकों की बैठक बुलाई जा रही है ताकि इस नियम के प्रभावी होने के दौरान किसी भी प्रकार की मूल्य वृद्धि न हो, ये सुनिश्चित किया जा सके, और आवश्यकता होने पर अतिरिक्त बसों का भी प्रबंध किया जायेगा.

इधर, एनजीटी ने भी दिल्ली सरकार और एमसीडी को प्रदूषण मामले पर कड़ी फटकार लगाई है. दिल्ली और NCR में प्रदूषण को लेकर उन्हें फटकारते हुए अस्पताल में परेशानियों से जूझते हुए लोगों का हवाला दिया और उनपर लोगों की जिन्दगी से खिलवाड़ करने का आरोप भी लगाया.

COMMENTS