वित्त मंत्रालय ने जारी की चेतावनी- बिटकॉइन में निवेश है खतरनाक, डूब सकता है आपका धन

वित्त मंत्रालय ने जारी की चेतावनी- बिटकॉइन में निवेश है खतरनाक, डूब सकता है आपका धन

दुनिया भर में हलचल मचा रही वर्चुअल करेंसी बिटकॉइन से आज के समय में कोई भी देश अछूता नहीं है. सभी देशों के लोग बिटकॉइन में इन्वेस्ट करने को बेताब है. ऐ...

दिलीप कुमार की छाती में इन्फेक्शन, लीलावती अस्पताल में कराए गए भर्ती- फैन्स कर रहे दुआ
दिल्ली में कोहली का नया रिकॉर्ड, धड़ाधड़ ठोक दिए 5000 रन, सचिन तेंदुलकर को भी पछाड़ा
धारा 377 को सुप्रीम कोर्ट ने किया खत्म, जानिये क्या था ये क़ानून और इसकी सज़ा

दुनिया भर में हलचल मचा रही वर्चुअल करेंसी बिटकॉइन से आज के समय में कोई भी देश अछूता नहीं है. सभी देशों के लोग बिटकॉइन में इन्वेस्ट करने को बेताब है. ऐसे में जाहिर सी बात है की भारत में भी लोग बिटकॉइन के बारे में अनभिज्ञ कैसे रह सकते है. करोड़ों कमाने के चक्कर में आये दिन इस वर्चुअल करेंसी में लोग अपनी खून पसीने की गाडी कमाई इन्वेस्ट करते जा रहे है.

वित्त मंत्रालय ने इस वर्चुअल करेंसी बिटकॉइन पर अपनी प्रतिक्रिया दी है. वित्त मंत्रालय ने लोगों से अपील करते हुए कहा है कि यह एक तरह की फर्जी स्कीम है जिसका हाल आने वाले समय में चिटफंड कंपनियों की तरह ही होगा. जिन लोगों ने इस तरह की करेंसी में अपना धन निवेश कर रखा है उन्हें सरकार ने चेतावनी देते हुए कहा है कि इस तरह की करेंसी में अपना धन निवेश करने से बचें, ये एक बेहद जोखिम भरा कदम है. साथ ही सरकार ने कहा है कि इस तरह से निवेश किया गया आपका धन गैर कानूनी कामों में लिया जा सकता है.

केंद्र सरकार ने बिटकॉइन जैसी करेंसी के दुरूपयोग की भी आशंका जताई है. सरकार ने कहा है की इस तरह की करेंसी के प्रयोग टेरर फंडिंग, स्मगलिंग, ड्रग्स तथा मनी लांड्रिंग जैसे गैर कानूनी कामों किया जा सकता है. ऐसा इसलिए, क्योंकि इस तरह की करेंसी के ट्रांजेकशन पूरी तरह से इन्क्रिप्टीड होता है.

केंद्र सरकार ने कहा है की ना ही हमने और ना ही रिजर्व बैंक ने हमारे देश में इसका बिज़नस करने का लाईसेंस किसी को दिया है. इस तरह से जो लोग इसमें बिज़नस कर रहे है वो बिलकुल गैर कानूनी है. यदि कोई इसमें निवेश कर रहा है तो वो अपने जोखिम पर निवेश कर रहा है. इस मामले में अगर कोई धोखाधडी हो जाती है तो सरकार कोई सहायता नहीं करेगी. इस पर सरकार ने साफ कह दिया है कि इस तरह की कोई भी करेंसी को देश में लेनदेन की अप्रूवल नहीं दी गयी है.

COMMENTS