सरकार का बड़ा फैसला, अब दुर्घटना में घायलों का इलाज होगा प्राईवेट अस्पतालों में

सरकार का बड़ा फैसला, अब दुर्घटना में घायलों का इलाज होगा प्राईवेट अस्पतालों में

सड़क दुर्घटना के शिकार लोगों का इलाज अब प्राईवेट अस्पतालों में हो सकेगा. दिल्ली सरकार ने इस बाबत लिए एक फैसले में कहा है की जल्द ही सड़क दुर्घटना के अला...

बीएसएनएल का बम्पर प्लान- एक साल तक डेली फ्री डाटा, जिओ और एयरटेल को दी जबरदस्त टक्कर
इस्लामाबाद कोर्ट का बड़ा फैसला, जेल से रिहा होंगे पूर्व पीएम नवाज शरीफ और बेटी मरियम
खतरे में LIC, सरकार के इस कदम से डूब सकती है LIC की नैय्या और लोगों की बीमा की रकम

सड़क दुर्घटना के शिकार लोगों का इलाज अब प्राईवेट अस्पतालों में हो सकेगा. दिल्ली सरकार ने इस बाबत लिए एक फैसले में कहा है की जल्द ही सड़क दुर्घटना के अलावा आगजनी में घायल और एसिड अटैक के पीड़ितों को भी दिल्ली सरकार के खर्चे पर प्राईवेट अस्पताल में इलाज की सुविधा दी जाएगी.

हेल्थ मिनिस्टर सत्येन्द्र जैन ने कहा की कैबिनेट मीटिंग में हुए फैसले के अनुसार ऐक्सिडेंट विक्टिम स्कीम के अंतर्गत दुर्घटना के शिकार लोगों को नजदीकी अस्पताल ले जाया जायेगा. दुर्घटना स्थल के करीबी अस्पताल में ही घायल का इलाज किया जायेगा. इसके लिए सरकार ने करीब 350 प्राईवेट अस्पतालों से कॉन्ट्रैक्ट किया है. जल्दी ही इस स्कीम को उपराज्यपाल के पास अप्रूवल के लिए भेजा जाएगा. इस तरह की घटनाओं में इलाज के लिए खर्च भी सरकार ही उठाएगी. उपराज्यपाल से हरी झंडी मिलने के बाद इस फैसले को लागू कर दिया जायेगा.

हेल्थ मिनिस्टर ने कहा कि आमतौर पर दुर्घटना के बाद घायलों को नजदीक में प्राईवेट अस्पताल होते हुए भी लोग सरकारी अस्पताल में लेकर जाते है जिस वजह से समय लग जाता है जो कई बार घायल के लिए घातक सिद्ध होता है. अब सरकार की इस नई स्कीम से घायलों को तुरंत इलाज की सुविधा मिल सकेगी जिससे उनके बचने की संभावना भी बढ़ जाएगी. इस स्कीम के लिए ऑटो और टैक्सीवालों को ही इसका ब्रैंड ऐम्बैसडर बनाया जायेगा.

जैन ने बताया कि ऐक्सिडेंट विक्टिम स्कीम के साथ एक नई स्कीम गुड समैरिटन भी लांच की जा रही है. इस स्कीम के अंतर्गत दुर्घटना में घायलों को अस्पताल पहुँचाने वाले को सरकार द्वारा 2000 रूपए का इनाम दिया जायेगा. इस स्कीम को उपराज्यपाल की अनुमति पहले ही मिल चुकी है.

 

 

COMMENTS