सीएम खट्टर की दरियादिली, बुड्ढे मोची को लगाया गले और दिए पचास हज़ार

सीएम खट्टर की दरियादिली, बुड्ढे मोची को लगाया गले और दिए पचास हज़ार

कैसा लगेगा जब प्रदेश का मुख्यमंत्री अचानक से आपके सामने आ जाये? वो भी सीधा आपके पास? और लगे आपसे संवाद करने? जी हाँ, ऐसा ही कुछ हुआ कुरुक्षेत्र के पास...

सिरसा से काबू मौत का सौदागर, बिहार से लाई गई नशीली दवाओं का बड़ा जखीरा बरामद
हनीप्रीत ने किया सरेंडर, कल पेश किया जायेगा कोर्ट में
राम रहीम पर ED की इंक्वायरी सख्त, डेरा प्रमुख के खिलाफ गवाही देंगे दो बौरे

कैसा लगेगा जब प्रदेश का मुख्यमंत्री अचानक से आपके सामने आ जाये? वो भी सीधा आपके पास? और लगे आपसे संवाद करने? जी हाँ, ऐसा ही कुछ हुआ कुरुक्षेत्र के पास शाहाबाद के उस बुजुर्ग मोची के साथ जब वो फुटपाथ पर जूते सिलाई का काम कर रहा था.

दरअसल हरियाणा प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर कुरुक्षेत्र के निकट एक कार्यक्रम में शामिल होकर लौट रहे थे. जब सीएम का काफिला आर्य कॉलेज रोड पहुंचा अचानक से सीएम ने गाडी रुकवा दी. गाडी से उतर कर सीएम सीधा सड़क के किनारे बैठे एक मोची के पास पहुँच गए. प्रदेश के मुख्यमंत्री को सामने देख मोची अजमेर सिंह हैरान रह गया और अवाक भी.

मुख्यमंत्री ने अजमेर सिंह से उसका हालचाल जाना. अजमेर सिंह की विपदा जानकार सीएम ने अजमेर सिंह को गले लगा लिया और अपने विवेकाधीन कोष से उसे 50,000 रूपए बतौर आर्थिक सहायता भी दिए. सीएम ने मोची को आश्वासन दिया की उनके दो पोतों को उचित शिक्षा मिले, ये सुनिशिचित किया जायेगा.

सीएम ने मोची अजमेर सिंह के पुत्र की अल्पायु में मृत्यु और तंगहाली जीवन की जानकारी के बाद कहा की सेवा ही उनका मर्म है और सेवा ही मेरा कर्म है. उन्होंने कहा की वह जनसेवक है, जनसेवा करना ही मेरा परम कर्तव्य है. इस घटना के सामने आने के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री के इस कदम की लोग प्रशंसा कर रहे है.

सीएम खट्टर ट्विटर हेंडल पर भी इसकी जानकारी दी गयी है.

 

COMMENTS