सोनिया गाँधी के दामाद मुश्किल में, फंस सकते है जमीन घोटाले में रॉबर्ट वाड्रा

सोनिया गाँधी के दामाद मुश्किल में, फंस सकते है जमीन घोटाले में रॉबर्ट वाड्रा

सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा की मुश्किलें बढ़ सकती है. राजस्थान के बीकानेर जिले की जमीन घोटाले मामले में ईडी ने रॉबर्ट वाड्रा के करीबी माने जाने...

प्रेमिका पर लगाया करियर बर्बाद करने का आरोप, कोर्ट ने ठोका 1 करोड़ 78 लाख का जुर्माना
नीलाम होंगे महेंद्र सिंह धोनी के दो फ़्लैट, करोड़ों का लोन है बकाया
धारा 377 को सुप्रीम कोर्ट ने किया खत्म, जानिये क्या था ये क़ानून और इसकी सज़ा

सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा की मुश्किलें बढ़ सकती है. राजस्थान के बीकानेर जिले की जमीन घोटाले मामले में ईडी ने रॉबर्ट वाड्रा के करीबी माने जाने वाले दो लोगो को गिरफ्तार किया है, ईडी ने कहा कि इस घोटाले के तार वाड्रा से जुड़े होने का संदेह है जिसकी जांच की जा रही है. गिरफ्तार किये गए जयप्रकाश बागरवा और अशोक कुमार से वाड्रा कनेक्शन की जांच की जा रही है ये दोनों रॉबर्ट वाड्रा के बेहद करीबी है.

प्रवर्तन निदेशालय के एक अधिकारी ने कहा कि गिरफ्तार अशोक स्‍काइलाइट हॉस्पिटलिटी प्राइवेट लिमिटेड के महेश नागर के सहयोगी है. जयप्रकाश और अशोक दोनों को मनी लांड्रिंग के अंतर्गत गिरफ्तार किया गया है. दोनों को कोर्ट में पेश किया गया है. कथित रूप से स्‍काइलाइट हॉस्पिटलिटी प्राइवेट लिमिटेड के तार रॉबर्ट वाड्रा से जुड़े हुए है. ईडी ने अप्रैल में इन दोनों के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी जिनमे ईडी को कुछ अहम सुराग हाथ लगे थे.

प्रवर्तन निदेशालय की रिपोर्ट के मुताबिक स्‍काइलाइट हॉस्पिटलिटी की ओर से बीकानेर में जमीन खरीद फरोख्त में कई मामलों में महेश नागर को अधिकृत प्रतिनिधि बनाया गया था. ईडी का आरोप है कि अशोक कुमार ने किन्ही अन्य लोगों की पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी का इस्तेमाल करते हुए बीकानेर में जमीन की खरीद फरोख्त की थी. ईडी ने मनी लांड्रिंग के आरोप में अधिकारीयों समेत कई कारोबारियों की 1.20 करोड़ की संपत्ति जब्त की थी. हालाँकि प्रवर्तन निदेशालय ने रॉबर्ट वाड्रा से जुडी फर्म को नोटिस भी जारी किये थे, लेकिन ईडी ने अपनी एफआईआर में रॉबर्ट वाड्रा या उनसे सम्बंधित किसी कंपनी का नाम नहीं लिया.

 

COMMENTS