1 दिसम्बर से बदल गए ये पांच महत्वपूर्ण नियम, जानिए क्या होगा आप पर असर

1 दिसम्बर से बदल गए ये पांच महत्वपूर्ण नियम, जानिए क्या होगा आप पर असर

दिसम्बर माह की शुरुआत में ही देश में ये पांच महत्वपूर्ण बदलाव होने जा रहे हैं. इनमें से अकेला भारतीय स्टेट बैंक ही दो बड़े ख़ास बदलाव करने जा रहा है. पह...

SBI खाताधारकों के लिए खुशखबरी, बदल गया कैश जमा करवाने का ये नियम
SBI का बड़ा फैसला- किसी दुसरे के खाते में नहीं जमा कर सकेंगे कैश, ये है कारण
SBI खाताधारकों के लिए बड़ी खबर, 1 दिसम्बर से बंद होने जा रही है ये सेवा

दिसम्बर माह की शुरुआत में ही देश में ये पांच महत्वपूर्ण बदलाव होने जा रहे हैं. इनमें से अकेला भारतीय स्टेट बैंक ही दो बड़े ख़ास बदलाव करने जा रहा है. पहले बदलाव की बात करें तो स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने अधिकारिक तौर पर साफ़ कह दिया है की जिन्होंने अपना मोबाइल नंबर अभी तक बैंक से लिंक नहीं कराया है उनकी इन्टरनेट बैंकिग सेवायें बंद कर दी जाएगी.1 december

इसके अलावा भारतीय स्टेट बैंक की तरफ से पेंशनर्स के लिए फेस्टिव सीजन में लोन देने की सुविधा शुरू की गई थी. यह ऑफर उन्हीं के लिए है जिनकी पेंशन एसबीआई की किसी भी ब्रांच में आती है. इस स्कीम के तहत लोन बिना किसी प्रोसेसिंग शुल्क के मिल रहा था. बैंक के अनुसार 76 साल से कम उम्र वाले केंद्रीय, राजकीय और सेना से रिटायर होने वाले पेंशनभोगियों के लिए इस ऑफर की शुरुआत की गई थी. बैंक की ओर से यह सुविधा आज से बंद कर दी गई है.

इसके अलावा 1 दिसम्बर से हवाई यात्रा करने वालों को 77 रुपये सर्विस चार्ज के रूप में अतिरिक्त चुकाने होंगे. अभी हवाई अड्डे की परिचालक दिल्ली अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा लिमिटेड (डायल) की तरफ से घरेलू उड़ान के टिकट पर 10 रुपये और इंटरनेशनल टिकट पर 45 रुपये का सर्विस फी ली जाती है. एरा ने कहा है की नए शुल्क में बदलाव 1 दिसम्बर से ही लागू हो जायेगा. विशेषज्ञों को कहना है कि शुल्क में बढ़ोतरी का औसत घरेलू किरायों पर न्यूनतम प्रभाव होगा.

1 दिसम्बर से ही जेट एयरवेज पुणे से सीधा सिंगापुर के लिए फ्लाइट शुरू कर चुका है. यह फ्लाइट पुणे से सुबह 5 बजकर 15 मिनट से उड़ान भरकर दोपहर 1 बजकर 15 मिनट पर सिंगापूर पहुंचेगी. जबकि सिंगापुर में रात 9 बजे उड़ान भरकर अगले दिन सुबह 5 बजे पुणे पहुंचेगी. अभी तक यात्रियों को सिंगापुर जाने के लिए मुंबई से फ्लाइट लेनी पड़ती थी1 december

देशभर में एक दिसंबर से ड्रोन को कानूनी तौर पर उड़ाने के लिए मंजूरी मिल जाएगी. इसके लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने इसकी राष्ट्रीय नीति तैयार की है. मंत्रालय के नियमों के तहत ड्रोन के मालिकों और पायलटों को रजिस्ट्रेशन करवाना होगा और सभी उड़ान की अनुमति लेनी होगी. इसके लिए ऐप पर आवेदन कर तुरंत डिजिटल परमिट्स पाए जा सकते हैं.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0