मोदी का बड़ा कमाल, अबू धाबी ऑयल फील्ड में खरीदी 10 फीसदी हिस्सेदारी, दुनिया में मची खलबली

मोदी का बड़ा कमाल, अबू धाबी ऑयल फील्ड में खरीदी 10 फीसदी हिस्सेदारी, दुनिया में मची खलबली

तीन देशों की यात्रा के बाद पीएम मोदी सोमवार शाम को भारत पहुँच गए हैं. अपनी यात्रा के अंतिम चरण ओमान में दो दिन गुजरने के बाद मोदी एयर इंडिया के विशेष ...

Independence Day 2018: पीएम मोदी दे सकते है देशवासियों को तोहफा, इन मुद्दों पर रहेगा फोकस
सड़क हादसे में पीएम मोदी की पत्नी घायल, सरकारी आदेशों की अवहेलना पड़ी भारी- एक की मौत
पीएम मोदी का राहुल गाँधी को चैलेन्ज, 15 मिनट बिना कागज के बोल के दिखाएं

तीन देशों की यात्रा के बाद पीएम मोदी सोमवार शाम को भारत पहुँच गए हैं. अपनी यात्रा के अंतिम चरण ओमान में दो दिन गुजरने के बाद मोदी एयर इंडिया के विशेष विमान से पालम एअरपोर्ट पहुंचे जहाँ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उनका स्वागत किया. इस यात्रा में पीएम मोदी ने रक्षा, टूरिज्म, वित्तीय और हेल्थ से जुड़े बहुत से करार और समझौते किये है जो देश के लिए कई मामलों में अहम है.

पीएम मोदी का यूएई का दूसरा दौरा पैट्रोल-डीजल से जूझ रहे देश के लिए राहत की खबर लेकर आया है. ओएनजीसी विदेश लिमिटेड ने अबू धाबी ऑयल फील्ड में 10 प्रतिशत की हिस्सेदारी खरीदी है. यह पहली बार है जब किसी भारतीय तेल कंपनी ने अबू धाबी ऑयल फील्ड में अपनि हिस्सेदारी खरीदी हो. इस करार के अनुसार अबू धाबी ऑयल फील्ड में निकलने वाले कच्चे तेल के कुल हिस्से में से 10 फीसदी पर ओएनजीसी विदेश लिमिटेड का हक होगा. इसके लिए करीब 60 करोड़ डॉलर का भुगतान किया गया है.

अबू धाबी ऑयल फील्ड में रोजाना करीब चार लाख बैरल कच्चे तेल का उत्पादन होता है. इस समझोते के मुताबिक भारत को हर साल करीब 20 लाख टन कच्चा तेल मिलेगा. 2025 तक अबू धाबी ऑयल फील्ड में कच्चे तेल के उत्पादन को 4.5 बैरल रोजाना किये जाने का लक्ष्य है. इस समझोते की अवधि 40 साल होगी जो अगले माह की 9 तारीख (9 मार्च ) से लागू हो जायेगा. आपको बता दें कि ओएनजीसी विदेश लिमिटेड भारत की तीन प्रमुख तेल कंपनियों से मिलकर बनाई गयी है जिसमें भारत पेट्रोलियम, इंडियन ऑयल और ओएनजीसी शामिल हैं.

 

 

COMMENTS