बीस साल बाद चारा घोटाला अध्याय का अंत, लालू यादव को मिली साढ़े तीन साल सजा

बीस साल बाद चारा घोटाला अध्याय का अंत, लालू यादव को मिली साढ़े तीन साल सजा

आखिरकार लगभग 20 साल पुराने चारा घोटाला मामले में लालू यादव को साढ़े तीन साल की सजा के बाद इस अध्याय का अंत हो गया. रांची की सीबीआई की विशेष अदालत ने बि...

मोदी सरकार का बड़ा फैसला, अब इलाहाबाद का नाम हो जायेगा प्रयागराज
हरियाणा में जाटों का हिंसक प्रदर्शन, चप्पे-चप्पे पर तैनात पुलिस, इंटरनेट सेवा बंद
पाक की फिर नापाक हरकत, पुंछ में कर रहा भारी गोलाबारी

आखिरकार लगभग 20 साल पुराने चारा घोटाला मामले में लालू यादव को साढ़े तीन साल की सजा के बाद इस अध्याय का अंत हो गया. रांची की सीबीआई की विशेष अदालत ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को साढ़े तीन साल की सजा और पांच लाख रूपए के अर्थदंड की सजा सुनाई है. अदालत ने यह सजा विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सुनाई है. इनके साथ ही मामले के अन्य दोषियों को भी कोर्ट ने साढ़े तीन साल की सजा और पांच लाख रूपए जुर्माने की सजा सुनाई है.

इस फैसले के बाद कई राजनेताओं की प्रतिक्रियाएं आ रही है. JDU के नेता केसी त्यागी ने कहा कि, “हम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते है,” उन्होंने इसे ऐतिहासिक फैसला करार देते हुए एक अध्याय का अंत बताया. आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद के बेटे तेजप्रताप ने कहा की, “ज्यूडिशिरी ने अपना काम कर दिया है लेकिन हम सजा को पढ़ने के बाद हाई कोर्ट जाएंगे और बेल के लिए आवेदन देंगे.”

आपको बताते चलें कि चारा घोटाला पहली बार 1996 में सामने आया था. इसमें पशुपालन विभाग के सरकारी खजाने से 950 करोड़ रुपये के फर्जीवाड़े का मामला सामने आने के बाद 56 लोगों को आरोपी बनाया गया था. इन आरोपियों में राजनेता से लेकर अफसर और चारा के सप्लायर तक का नाम शामिल था. इस केस के आरोपियों में से सात आरोपियों की पहले ही मौत हो चुकी है. इस घोटाले से जुड़े 2 आरोपी सरकारी गवाह भी बन चुके है जिनमें से एक कोर्ट से बरी भी हो चुका है.

COMMENTS