2G घोटाले के सभी आरोपी बरी, कोर्ट ने कहा- सीबीआई आरोप साबित करने में नाकाम

2G घोटाले के सभी आरोपी बरी, कोर्ट ने कहा- सीबीआई आरोप साबित करने में नाकाम

बहुचर्चित 2G स्पेक्ट्रम घोटाले में आखिरकार छः साल बाद सीबीआई की विशेष कोर्ट ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया. कोर्ट ने कहा कि सरकारी वकील आरोप साबित करन...

J&K: WhatsApp और Facebook चलाने के लिए कराना होगा रजिस्ट्रेशन, नहीं तो हो जाएगी जेल
मोदी सरकार के प्रयासों से मिटने वाला है पाकिस्तान का नामोनिशान, बांग्लादेश भी हुआ राजी
दहल गया काठमांडू, बांग्लादेश का यात्री विमान लैंडिंग का दौरान हुआ क्रैश, 50 से ज्यादा यात्रियों की मौत

बहुचर्चित 2G स्पेक्ट्रम घोटाले में आखिरकार छः साल बाद सीबीआई की विशेष कोर्ट ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया. कोर्ट ने कहा कि सरकारी वकील आरोप साबित करने में नाकाम रहे. कोर्ट में इस सम्बन्ध में कोई सबूत पेश नहीं किये जा सके. लिहाजा सभी आरोपियों को बरी किया जाता है. मामले में नेता ए राजा, डीएमके सांसद कनिमोझी समेत कुल 17 आरोपी रहे. सीबीआई कोर्ट के फैसले के बाद बचाव पक्ष के वकील ने इसे महज धारणा पर आधारित मामला बताया.

छः साल चले इस केस के फैसला आने से पहले ही लोगों का हजूम उमड़ पड़ा. फैसला आने के बाद कोर्ट के बाहर कनिमोझी और ए राजा के समर्थकों ने जमकर जश्न मनाया. इस मामले के बारे एक न्यूज़ चैनल से बातचीत करते हुए कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि मेरी जीरो लॉस थ्‍योरी सच साबित हुई. उन्होंने कहा की इस तरह का कोई घोटाला हुआ ही नहीं खामख्व्हा ही शक के आधार पर ऐसा माहौल बनाया गया था.

फैसले के बाद राज्यसभा सांसद कनिमोझी ने इस दौरान सभी साथ खड़े होने वाले लोगो का आभार व्यक्त करते हुए कहा की आखिरकार सत्य की जीत हुई है. आपको बता दें की घोटाला यूपीए सरकार के दौरान हुआ था. इस मामले की सुनवाई छः साल पहले 2011 में शुरू हुई थी. उस समय अदालत ने 17 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किये थे. अगर आरोप साबित हो जाते तो कम से कम छः माह की कैद से लेकर उम्रकैद तक की सजा का प्रावधान है.

 

COMMENTS