तीन राज्यों में कर्जमाफी की घोषणा के बाद जागी सरकार, अब इस राज्य के किसानों को राहत के आसार

तीन राज्यों में कर्जमाफी की घोषणा के बाद जागी सरकार, अब इस राज्य के किसानों को राहत के आसार

मध्य प्रदेश, राजस्थान और छतीसगढ़ में किसानों के कर्जमाफी की घोषणा के बाद अब सरकार की तरफ से महाराष्ट्र के किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी आई है. महाराष्ट्...

रेलवे की तैयारी करने वाले अभ्यर्थी इन सवालों को रट लो, ऐसे ही प्रश्न पूछे जाते है एग्जाम में
अब नहीं आएगा बिजली का बिल, साल 2019 से पहले मोदी सरकार का बड़ा फैसला
खतरनाक हुआ ‘तितली सायक्लोन’, रेड अलर्ट के बाद सरकार ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग

मध्य प्रदेश, राजस्थान और छतीसगढ़ में किसानों के कर्जमाफी की घोषणा के बाद अब सरकार की तरफ से महाराष्ट्र के किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी आई है. महाराष्ट्र कैबिनेट ने प्याज किसानों के लिए 150 करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की है. सरकार द्वारा इस राहत पैकेज की घोषणा प्याज उत्पादक किसानों को राहत देने के लिए की गई है. सरकार की तरफ से 1 नवंबर से 15 दिसंबर के बीच प्याज बेचने वालों को 200 रुपये प्रति क्विंटल बतौर राहत प्रदान किए जाएंगे.

इंडियन आर्मी ने निभाया एक माँ से किया वादा, जानकार आप भी कायल हो जाओगे भारतीय सेना के

महाराष्ट्र सरकार की तरफ से दिया जाने वाला राहत पैकेज कुल 75 लाख मीट्रिक टन प्याज के लिए पर्याप्त होगा. आपको बताते चलें की इससे पहले राजस्थान, छतीसगढ़ और मध्यप्रदेश में कांग्रेस ने अपनी सरकार बनने के बाद अपने चुनावी वादे को पूरा करने की दिशा में किसानों की कर्जमाफी की घोषणा की गई है. बुधवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा की राज्य के किसानों का सहकारी बैंकों का सारा बकाया कर्ज माफ किया जाएगा. वहीं वाणिज्यिक, राष्ट्रीयकृत व ग्रामीण बैंकों में कर्जमाफी की सीमा दो लाख रुपये रहेगी.

जबकि, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ की सरकार पहले ही कर्जमाफी का ऐलान कर चुकी हैं. एमपी के मुख्यमंत्री का पद संभालते ही कमलनाथ ने 17 दिसंबर को कांग्रेस के ‘वचन पत्र’ में किए गए वादे के अनुसार सबसे पहले किसानों के दो लाख रुपये तक के कर्ज माफ करने की फाइल पर हस्ताक्षर किए थे. छ्त्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी पहला फैसला किसान कर्ज माफी का लिया था.

चक्रवाती तूफ़ान पेथाई आज मचा सकता है भयंकर तांडव, इन इलाकों में उफान मार रही समुद्री लहरें

अब महाराष्ट्र सरकार द्वारा राहत पैकेज की घोषणा किये जाने के बाद सूबे के किसानों काफी राहत मिलने की उम्मीद है. गौरतलब है की कुछ दिन पहले ही नासिक में दो किसानों ने प्याज के थोक भाव कम मिलने और कर्ज़ की वजह से आत्महत्या कर ली थी. वहां की किसानों का दावा है की प्याज की कीमत बेहद कम मिलने से किसानों की हालत बेहद नाजुक है और वो आत्महत्या करने को मजबूर है.

COMMENTS