रोचक घटना: जब भारत-पाकिस्तान के बीच एक ‘आम’ की वजह से उपजा विवाद

रोचक घटना: जब भारत-पाकिस्तान के बीच एक ‘आम’ की वजह से उपजा विवाद

फलों का राजा ‘आम’ कोई आम चीज नहीं बल्कि बहुत ही ख़ास है. गर्मी के मौसम में हाट-बाज़ार में चारों ओर आम ही आम देखकर जी ललचाने लगता है. आम की वैसे तो बहुत ...

पिंटो परिवार की गिरफ्तारी पर रोक, सीबीआई ने किया था विरोध
बड़े बुजुर्गों के चरण छूकर लीजिये आशीर्वाद, बन जाओगे दुनिया के सबसे दौलतमंद
अडाणी को बड़ा झटका, बैंकों ने क़र्ज़ देने से किया इनकार

फलों का राजा ‘आम’ कोई आम चीज नहीं बल्कि बहुत ही ख़ास है. गर्मी के मौसम में हाट-बाज़ार में चारों ओर आम ही आम देखकर जी ललचाने लगता है. आम की वैसे तो बहुत सी किस्में है लेकिन कुछ आम की किस्में ‘आम’ नहीं कुछ ‘ख़ास’ भी हैं. वैसे तो सभी किस्मों के ईजाद होने से लेकर नामकरण तक में रोचक इतिहास छुपा हुआ है लेकिन आज हम आपको ऐसी ही एक घटना बताने जा रहे हैं जिसने दो देशों के बीच विवाद पैदा कर दिया.

एक प्रतिष्ठित पत्रिका में छपी खबर के अनुसार घटना उस समय की है जब हमारे देश की प्रधानमन्त्री श्रीमती इंदिरा गाँधी हुआ करती थी. पाकिस्तान के जनरल जिया उल हक़ ने प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी को चौसा आम की दो पेटियां भिजवाई. साथ में उन्होंने उन आमों के बारे में बताया की ये ‘अनवरी रतौली’ आम हैं. श्रीमती इंदिरा गाँधी को वे आम बहुत अधिक पसंद आये और उन्होंने उनकी दिल खोल कर तारीफ की.

लेकिन कुछ ही समय बाद पता चला की ये आम ‘अनवरी रतौली’ नहीं बल्कि ‘रटौल’ आम है जो मेरठ के रौटेला गाँव में होता है. भारत की प्रधानमन्त्री श्रीमती इंदिरा गाँधी नाराज हो गई. लोगों ने कहा की अपने देश के ही आम को पाकिस्तानियों ने अपने देश का आम बताकर खूब अपनी तारीफ़ करवाई है और हमारी प्रधानमन्त्री को अपने देश के बारे में सही जानकारी ना होने की वजह से बेवजह ही पाकिस्तानी आम की तारीफ़ कर दी.

दोनों देश ही इस आम की किस्म को लेकर आपस में भीड़ गए. यह भी कहा जाता है की जनरल जिया उल हक़ की मौत भी इसी आम की वजह से ही हुई. जनरल जिया उल हक़ की मौत हवाई जहाज में विस्फोट में हुई थी. जांच एजेसियों ने बताया था की आम की पेटी में विस्फोटक भरकर रखा गया था जिससे जनरल की मौत हुई.

COMMENTS