आपकी पहली पसंद बन जाएगी ग्वार फली, अगर आप ने जान लिए इसके फायदे

आपकी पहली पसंद बन जाएगी ग्वार फली, अगर आप ने जान लिए इसके फायदे

ग्वार का साइंटिफिक नाम Cyamopsis Tetragonoloba है. कई स्थानों पर इसे चतरफली के नाम से भी जाना जाता है. ग्वार की फली में विभिन्न प्रकार के विटामिन जैसे...

अगर महसूस होता है कभी-कभी शरीर में सुन्नापन, तो हो जाएं सावधान ये है गंभीर खतरे का संकेत
रसगुल्ले खाने से स्वास्थ्य को मिलते हैं ये फायदे
स्वस्थ रहने के शॉर्टकट टिप्स, जिनके पास समय की कमी है वो इन टिप्स को जरुर फॉलो करें

ग्वार का साइंटिफिक नाम Cyamopsis Tetragonoloba है. कई स्थानों पर इसे चतरफली के नाम से भी जाना जाता है. ग्वार की फली में विभिन्न प्रकार के विटामिन जैसे विटामिन के,ए, और सी के साथ-साथ कार्बोहाइड्रेट भी काफी मात्रा में पाया जाता हैं. ग्वार फली की सब्जी आयरन का अच्छा स्त्रोत है. शरीर के लिए आवश्यक फॉस्फोरस, कैल्शियम, आयरन और पोटेशियम भी ग्वार की फली में पाया जाता हैं. ग्वार फली का सेवन शायद इसलिए नहीं किया जाता, क्योंकि इसमें स्वाद नहीं होता हैं लेकिन यदि प्रयास करें तो इसे स्वादिष्ट भी बना सकते हैं.

ग्वार फली का ग्लाइसेमिक इंडेक्स विभिन्न रोगों जैसे- डायबिटीज और शरीर में उपस्थिति कोलोस्ट्राल को नियंत्रित करता हैं. ग्वार फली की सबसे अच्छी बात ये है की इसमें किसी तरह का कोलेस्ट्रॉल अथवा वसा नहीं पाई जाती इसलिए इसे काफी लाभदायक टॉनिक मान सकते हैं.

ग्वार फली के सेवन से कई प्रकार की गंभीर बिमारियों से भी छुटकारा मिलता है.

हड्डियों की मजबूती के लिए जरूरी कैल्शियम और फास्फोरस ग्वार की फली से प्राप्त किया जा सकता हैं, ऐसा करने से शरीर भी स्वस्थ रहता हैं. शरीर में सभी पोषक तत्वों की कमी पूर्ण हो जाती है. विशेष रूप से विटामिन के, की पर्याप्तम मात्रा इसमें होने से यह हड्डियों को मजबूत करने और भ्रूण के विकास में सहायक होता है. इसमें पी जाने वाली फॉलिक एसिड की मात्रा शरीर को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करती हैं.

ग्वार फली दिल को हेल्दी रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है क्योंकि इसमें कोलेस्ट्राल घटाने के गुण होते हैं. फली में पाया जाने वाला फाइबर और पौटेशियम दिल के लिए फाय़देमंद होता है.

ग्वार में ग्लाइकोनुट्रीन्ट्स के तत्व होते है जो बॉडी में ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करते हैं. लेकिन ये भी सच है की इसमें कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स पाया जाता है. फली के आहार फाइबर भोजन को पचाने में काफी हद तक मददगार साबित होते है. कच्ची फलियों को चबाना डायबिटीज रोगियों के लिए लाभकारी होता हैं.

ग्वार फली में फाइबर अधिक मात्रा में पाए जाने के कारण ये पाचन संबंधी समस्याओं से बचाने में अहम भूमिका निभाता हैं. इसका सेवन करने से शरीर के सभी प्रकार के विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते हैं और पाचन संबंधी समस्याओं से छुटकारा मिलता है. ग्वार फली कब्ज से निजात दिला सकती हैं.

ग्वार फली में मौजूद आयरन से हीमोग्लोबिन का उत्पादन बढ़ता है परिणाम स्वरूप शरीर में खून की उचित आपूर्ति हो जाती है और साथ ही इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स के कारण ब्लड सर्कुलेशन में सुधार होता हैं.

ग्वार की फली में पाये जाने वाले हाइपोग्लाइसेमिक और हाइपोलिपिड़ेमिक के कारण इसकी सब्जी हाइपरटेंशन से पीड़ित लोगों के लिए बेहतर विकल्प हो सकती हैं, साथ ही इसमें पाया जाने वाला यौगिक ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में सहायक होता है.

यदि आप किसी भी प्रकार की शारीरिक समस्या से पीड़ित है तो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरुर लें. क्योंकि डॉक्टर की अनुमति लेकर इसका सेवन करना ज्यादा लाभकारी हैं.

COMMENTS