अलर्ट: अगर नहीं रुकी बारिश तो डूब जाएगी दिल्ली, खतरे के निशान से ऊपर पहुंचा यमुना का पानी

अलर्ट: अगर नहीं रुकी बारिश तो डूब जाएगी दिल्ली, खतरे के निशान से ऊपर पहुंचा यमुना का पानी

लगातार तीन दिनों से हो रही बारिश से दिल्ली और आसपास के इलाकों पर खतरा मंडराने लगा है. हरियाणा के यमुनानगर स्थित हथनीकुंड बैराज से पानी छोड़े जाने और प...

उत्तर भारत के कई राज्यों में मानसून ने मचाई भयंकर तबाही, इन राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी
अब कार या बाइक पर लगानी होगी हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट, वरना हो सकती है जेल
खतरनाक तितली तूफ़ान अगले 48 घंटे में मचा सकता है भारी तबाही- रेड अलर्ट, स्कूल-कॉलेज बंद

लगातार तीन दिनों से हो रही बारिश से दिल्ली और आसपास के इलाकों पर खतरा मंडराने लगा है. हरियाणा के यमुनानगर स्थित हथनीकुंड बैराज से पानी छोड़े जाने और पहाड़ी राज्यों में लगातार हो रही बारिश के कारण दिल्ली में यमुना का जल स्तर खतरे के निशान से ऊपर चला गया है. हथनीकुंड बैराज पर यमुना नदी में पानी तीन लाख क्यूसेक से ऊपर हो चुका है. अगर हालात में जल्दी ही सुधार नहीं हुआ तो दिल्ली में बाढ़ का खतरा बढ़ जायेगा.

आपको बता दें की यमुना का जल स्तर 204.83 मीटर के ऊपर जाते ही खतरा बढ़ जाता है. अभी यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से करीब एक मीटर ऊपर तक चला गया है. दिल्ली के निचले इलाकों में पानी भरना शुरू हो चुका है. वहीँ, हथनीकुंड बैराज पर यमुना नदी में पानी तीन लाख क्यूसेक से ऊपर हो चुका है. जो लगभग दो दिन बाद दिल्ली पहुंच जायेगा और वहां पर भारी तबाही मचा सकता है.

सरकार ने यमुना के किनारे स्थित इलाकों में बाढ़ की संभावना को देखते हुए अलर्ट जारी कर दिया है. दिल्ली सरकार के सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग ने निचले इलाकों में रह रहे 100 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की तैयारी कर ली है. प्रशासन द्वारा इसके लिए 43 नाव भी मंगवाई गई हैं. दिल्ली सरकार ने यमुना के किनारे बसने वाले किसानों और झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वालों को इलाका खाली करने की चेतावनी दी है और लगातार बोट पर सवार होकर अनाउसमेंट किया जा रहा है.