रोचक तथ्य: चुनाव हारने का रिकॉर्ड बना चुका है ये शख्स, खुद को कहता है ‘ऑल इंडिया इलेक्‍शन किंग’

रोचक तथ्य: चुनाव हारने का रिकॉर्ड बना चुका है ये शख्स, खुद को कहता है ‘ऑल इंडिया इलेक्‍शन किंग’

चुनाव हारने का रिकॉर्ड बना चुका है ये शख्स, वाजपेयी और मनमोहन सिंह जैसे दिग्गजों से लड़ चुका है चुनाव

लोकसभा चुनाव 2019 का महासमर शुरु होने में अब बस कुछ ही समय शेष है. पूरा देश इस समय चुनावी रंग में रंगा हुआ है और अगर इस चुनावी मौसम में चुनाव की बात न...

मिशन शक्ति: अंतरिक्ष महाशक्ति बनने वाला दुनिया का चौथा देश बना भारत, जानिए इसकी ख़ास बातें
Mission Shakti: जानिये क्या है ‘मिशन शक्ति’, जिसने दुनिया में एक बार फिर भारत का लोहा मनवाया
देश के चुनावी इतिहास में पहली बार होगा 1 सीट के लिए 3 चरणों में चुनाव, जानें क्या है कारण

लोकसभा चुनाव 2019 का महासमर शुरु होने में अब बस कुछ ही समय शेष है. पूरा देश इस समय चुनावी रंग में रंगा हुआ है और अगर इस चुनावी मौसम में चुनाव की बात ना हो ये हो ही नहीं सकता. दरअसल, ये खबर देश के के ऐसे व्यक्ति के बारे में है जो खुद को ‘ऑल इंडिया इलेक्‍शन किंग’ कहता है. कहे भी क्यूँ नहीं, वह अब तक 170 चुनाव लड़ चुका है. हालाँकि, उसे किसी भी चुनाव में सफलता नहीं मिली. उनकी हार ने भी एक रिकॉर्ड कायम किया है.All India Electon King

तमिलनाडु के सलेम के रहने वाले डॉ. पद्मराजन ने साल 1988 में पहली बार चुनाव लड़ने के लिए मैदान में कदम रखा, लेकिन इसमें उन्‍हें जीत हासिल नहीं हुई. लेकिन धुन के पक्के डॉ. पद्मराजन हार मानने वालों में नहीं थे. बार बार कोशिश करने के बावजूद भी हार जाना, उनका जज्बा कम नहीं कर सका. उनका नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में ‘भारत के सबसे असफल उम्‍मीदवार’ के रूप में भी दर्ज हो चुका है. इसके बाद वह लगातार चुनावी दंगल में उतरते रहे और हारते रहे. डॉ. के पद्मराजन अभी तक 170 चुनाव लड़ चुके हैं, लेकिन 60 साल के पद्मराजन एक भी चुनाव नहीं जीत पाए.All India Electon King

पेशे से एक होम्‍योपैथिक डॉटक्‍र पद्मराजन ने एक बार जो ठान ली तो हर बार होने वाली हार भी उन्हें हरा नहीं सकी. डॉक्टरी का पेशा छोड़ कर अब वे एक बिजनेसमैन बन चुके है लेकिन चुनाव लड़ने से अब भी कभी पीछे नहीं हटे. वे खुद को ऑल इंडिया इलेक्‍शन किंग बोलते हैं. वे स्‍थानीय चुनावों से लेकर लोकसभा चुनावों तक में अपना हाथ आजमा चुके हैं. यही नहीं, वे राष्‍ट्रपति पद के लिए होने वाला चुनाव भी लड़ चुके हैं, लेकिन यहां भी असफल हुए.

डॉ. पद्मराजन अब तक देश के कई दिग्गज नेताओं के सामने भी चुनाव लड़ चुके हैं जिनमें अटल बिहारी वाजपेयी, डॉ. मनमोहन सिंह, प्रणब मुखर्जी, एपीजे अब्‍दुल कलाम, जयललिता और करुणानिधि जैसे कई बड़े नेता शामिल है.