पाक को सबक सिखाने की तैयारी में भारत, अब पाकिस्तान को नहीं मिलेगा पानी

पाक को सबक सिखाने की तैयारी में भारत, अब पाकिस्तान को नहीं मिलेगा पानी

सीमापार से लगातार अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आने पर नाराज भारत ने आखिरकार पाकिस्तान को सबक सिखाने का फैसला कर ही लिया है. शुक्रवार को केंद्रीय जल स...

एटीएम में ठगी का शिकार हुई महिला ने चली ऐसी चाल, 17 दिन बाद खुद ही फंस गया ठग
होली विशेष: आपको विरासत में मिली है इतनी कीमती धरोहर, सुरक्षित तरीके से खेलकर बनायें यादगार
Independence Day 2018: पीएम मोदी दे सकते है देशवासियों को तोहफा, इन मुद्दों पर रहेगा फोकस

सीमापार से लगातार अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आने पर नाराज भारत ने आखिरकार पाकिस्तान को सबक सिखाने का फैसला कर ही लिया है. शुक्रवार को केंद्रीय जल संसाधन मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने अपने बीकानेर दौरे के दौरान भारत की नदियों से पाकिस्तान जाने वाली पानी रोकने का ऐलान किया है. अर्जुन राम ने कहा है कि भारत सरकार जम्मू-कश्मीर और पंजाब में दो बड़े डैम बनाने जा रही है.

उन्होंने कहा की इन दो बड़े बांधों के बाण जाने से पाकिस्तान जाने वाले पानी का इस्तेमाल बॉर्डर के इस पार भारत के जम्मू कश्मीर, पंजाब, राजस्थान में होगा. मेघवाल ने कहा कि मोदी सरकार इस योजना को लागू करने के लिए तेजी से काम कर रही है. अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि आम दिनों में रोज़ाना 3 लाख क्यूसेक पानी की आपूर्ति पाकिस्तान को हो जाती है. जबकि मानसून में रोज़ाना एक लाख क्यूसेक पानी पाकिस्तान चला जाता हैं. जिसे रोकने के लिए केंद्र सरकार ने कमर कस ली है. Arjun Ram Meghwal

अर्जुनराम ने ये भी कहा कि जम्मू-कश्मीर और पंजाब में बांध बनाने को लेकर काम तेज़ी से चल रहा हैं. आज़ादी के दौरान तीन-तीन नदियों का बंटवारा किया गया था. लेकिन हमारा पानी पाकिस्तान जा रहा हैं. ऐसे में देश में अब दो बांध बनाकर इसे रोका जाएगा. जहां पहले की सरकारों ने भी इस पर काम किया है. लेकिन मोदी सरकार ने इसके निर्माण के कार्य में तेज़ी लाई है.

माना जा रहा है कि पाकिस्तान की नापाक करतूत के बाद भारत सरकार के इस निर्णय के बाद हुए इस पलटवार का खामियाजा पाकिस्तान को भी भुगतना पड़ेगा. मोदी सरकार अब गोली से नहीं बांध बनाकर पाक को करारा जवाब देने जा रही है. जल संसाधन मंत्रालय के इस क़दम के बाद एक बात साफ़ है की देश के कई हिस्सों में इस पानी के पहुंचने से जल संकट की समस्या से निजात मिलेगा. वहीं, दूसरी ओर पाक के नापाक इरादों पर भारत सरकार का पानी वाला प्रहार भारी पड़ सकता है.

 

COMMENTS