बड़े बदलाव की तैयारी में रेलवे, अब फिर कभी नज़र नहीं आएगा आपको ट्रेनों का ये नीला रंग

बड़े बदलाव की तैयारी में रेलवे, अब फिर कभी नज़र नहीं आएगा आपको ट्रेनों का ये नीला रंग

भारतीय रेलवे ने अब अपना रंग-रूप बदलने की तैयारी कर ली है. यात्रियों को अच्छे सफ़र का अहसास दिलाने के लिए रेल मन्त्रालय ने रेलवे का कलर बदलने के लिए कमर...

तय समय से 20 सेकंड पहले चली ट्रेन, कंपनी ने लिया एक्शन
इतिहास की गजब घटना: लाखों का माल लेकर चली थी ट्रेन, …और अब चार साल बाद पहुंची मंजिल पर
दिल्ली से अम्बाला जाना था- स्टेशन से रवाना होते ही हथियारबंद लुटेरों ने लूट ली ट्रेन

भारतीय रेलवे ने अब अपना रंग-रूप बदलने की तैयारी कर ली है. यात्रियों को अच्छे सफ़र का अहसास दिलाने के लिए रेल मन्त्रालय ने रेलवे का कलर बदलने के लिए कमर कस ली है. नए निर्णय के मुताबिक अब ट्रेनें नीले रंग की बजाये गाढ़े पीले रंग और भूरे रंग में चलती हुई नज़र आएँगी.

दाती महाराज पर लगा आरोप हो सकता है झूठा साबित, आश्रम में क्राइम ब्रांच की टीम को नहीं मिली गुफा

रेलवे ने इसके लिए सबसे पहले दिल्ली-पठानकोट एक्सप्रेस के 16 कोच का कलर बदलने के लिए काम शुरू कर दिया है. बताया जा रहा है की इसी महीने के अंत तक इस ट्रेन का रंग पूरी तरह से बदल जायेगा. सरकार का इस योजना के अंतर्गत कुल 30 हज़ार कोच का रंग बदलने का प्लान है.

रेलवे मंत्रालय ने अब ट्रेन में रंग के अलावा सीटों को भी आरामदायक बनाने और बायो बाथरूम लगाने की ओर भी कदम बढ़ा दिया है. इसके साथ ही यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए प्रत्येक सीट पर मोबाइल चार्जिंग की सुविधा देने की प्लानिंग पर भी विभाग काम कर रहा है. हालाँकि, अभी मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों को ही नए रंगों में बदला जायेगा जबकि राजधानी, शताब्दी, दुरंतो जैसी ट्रेनें अपने पहले ही लुक में दौड़ती नज़र आएंगी.

रेलवे के सीनियर अधिकारीयों के मुताबिक रेल मंत्री पीयूष गोयल से मंजूरी मिलने के बाद अब कोचों को रंगने का काम काफी जोरों से चल रहा है. गौरतलब है की भारतीय रेलवे के रंग करीब दो दशक बाद बदला जा रहा है. इससे पहले रेलवे ने गाढ़े लाल रंग से नीले रंग में रेलवे को बदला था.

COMMENTS