सर्दियों का मौसम और सरसों का साग, जानिए इसके सेहत को होने वाले बेमिसाल फायदे

सर्दियों का मौसम और सरसों का साग, जानिए इसके सेहत को होने वाले बेमिसाल फायदे

जैसे-जैसे सर्दियों का मौसम शुरू होता है सरसों की बिजाई की भी शुरुआत हो जाती है. खेतों में लहराती पीली-पीली सरसों सबका मन मोह लेती है. सरसों की फसल का ...

लेटेस्ट जॉब्स: दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में 991 नर्सिंग ऑफिसर के पदों पर वैकेंसी
आधार को लेकर UIDAI ने जारी की चेतावनी, इन्टरनेट पर यूज करने में बरतें सावधानी
आपके आधार कार्ड का प्रयोग किसने और कहाँ किया है, ऐसे जानिए चुटकियों में

जैसे-जैसे सर्दियों का मौसम शुरू होता है सरसों की बिजाई की भी शुरुआत हो जाती है. खेतों में लहराती पीली-पीली सरसों सबका मन मोह लेती है. सरसों की फसल का ये मनमोहक नज़ारा इन दिनों में खेतों में आम देखने को मिलता है. स्वाद में तो सरसों के साग का कोई मुकाबला नहीं है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसके फायदे भी बेमिसाल हैं? अगर नहीं जानते, तो चलिए हम बता देते हैं सरसों के साग के ये अनमोल फायदे-सरसों के साग

सरसों का साग जिसका नाम मात्र सुनते ही मुंह में पानी आ जाये. लेकिन सरसों का साग आप कहाँ से प्राप्त करते है ये विशेष ध्यान देने वाली बात है. इसका आपके स्वास्थ्य पर प्रभाव अवश्य होता है. क्योंकि सरसों की कृषि दो प्रमुख आधार व्यापार और खाद्य पदार्थ के रूप में की जाती है. व्यापारिक दृष्टि से की जाने वाली कृषि में रासायनिक पदार्थों का इस्तेमाल किया जा सकता है.

सरसों के साग में काफी मात्रा में फाइबर होता है जिसके सेवन से शारीरिक पाचन तन्त्र सही रहता है. सरसों में कई तरह के विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, आयरन आदि भरपूर मात्रा में होते हैं. इसके साथ ही में विटामिन ए, सी, डी, बी 12 और भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स भी पाए जाते हैं, जो शरीर से टॉक्‍स‍िन दूर करने के साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाते हैं.सरसों के साग

जैसा की पहले भी बताया गया है की सरसों के साग में पोटेशियम और कैल्शियम की काफी मात्रा पाई जाती है. कैल्शियम हड्डियों को स्वस्थ रखने में महवपूर्ण भूमिका निभाता है. यह साग शरीर को फाइबर प्रदान करने के साथ-साथ मेटाबोलिज्म की दर में वृद्धि करता है. मक्के की रोटी और सरसों का साग काफी प्रसिद्ध है इसका एक कारण ये भी है की मक्का की रोटी और सरसों का साग खाने में अधिक स्वादिष्ट होता है.सरसों के साग

सरसों के साग की अधिक फाइबर की मात्रा और कम कैलोरी होने से शरीरिक मेटाबोलिज्म तो सही रहता ही है साथ ही पाचन तन्त्र के सुचारू रूप से कार्य करने से शरीर का वजन कम करने में सहायता मिलती है. इसके साथ ही विटामिन ‘ई’, ओमेगा 3 नर्व्स, स्किन और इंटसटाइन के लिए फायदेमंद होता है. साथ ही विटामिन ए आंखों की सेहत के लिए लाभदायक होता है. ध्यान रखें की सरसों का साग दही के साथ या मक्खन के साथ ही खाना चाहिए अन्यथा इसके पाचन सम्बन्धी दिक्कत या गैस की दिक्कत हो सकती है.