भारत के लिए खतरे की घंटी, पाकिस्तान बन सकता है दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी एटमी ताकत

भारत के लिए खतरे की घंटी, पाकिस्तान बन सकता है दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी एटमी ताकत

आतंक का आका कहे जाने वाले पाकिस्तान को लेकर एक बड़ी रिपोर्ट सामने आई है जिससे भारत की चिंता बढ़ सकती है. रिपोर्ट में खुलासा हुआ है की पाकिस्तान परमाणु ह...

डोनाल्ड ट्रंप को आया गुस्सा, कभी भी लग सकती है इमरजेंसी, ये होगा असर
बड़ी खबर: नवाज शरीफ को दस साल की जेल और 72 करोड़ जुर्माना, बेटी मरियम को भी 7 साल की सजा
जानिए कैसे बनाती है फेसबुक जैसी कंपनियां आपको बेवकूफ, कैसे होता है आपकी निजी जानकारी का दुरूपयोग?

आतंक का आका कहे जाने वाले पाकिस्तान को लेकर एक बड़ी रिपोर्ट सामने आई है जिससे भारत की चिंता बढ़ सकती है. रिपोर्ट में खुलासा हुआ है की पाकिस्तान परमाणु हथियार बनाने की दौड़ में भारत से कहीं आगे निकल चुका है. रिपोर्ट के मुताबिक भारत का स्थान परमाणु हथियार मामले में 7 वां है जबकि पाकिस्तान छटे स्थान पर.

पाकिस्तान में निरंतर परमाणु हथियार विकसित किये जा रहे है. एजेंसियों ने दावा किया है की पाकिस्तान के पास मौजूदा समय में करीबन 140 से 150 तक परमाणु हथियार और भण्डार है.परमाणु हथियार

परमाणु हथियारों पर नजर रखने वाली एजेंसी FAS (फेडरेशन ऑफ अमेरिकन साइंटिस्ट्स) ने रिपोर्ट में खुलासा करते हुए लिखा है की अगले पांच सालों में पाकिस्तान के परमाणु हथियारों का आंकड़ा 220 को पार कर जायेगा.

रिपोर्ट की मानें तो इतनी ताकत के साथ पाकिस्तान कुछ ही समय में दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी ताकत बन जायेगा. गौरतलब है की वर्तमान में अमेरिका, रूस, फ्रांस, यूके जैसे देश अपने परमाणु जखीरे को बढ़ाने पर कम ध्‍यान दे रहे हैं. हालांकि भारत से दुश्‍मनी लेने के लिए पाकिस्‍तान इस रेस में काफी आगे निकलना चाह रहा है.

रिपोर्ट में दावा किया गया है की अगले 10 सालों में पाकिस्तान 350 परमाणु हथियारों के साथ दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी ताकत बन सकता है. ‘Pakistani nuclear forces 2018’ नाम की इस रिपोर्ट को हंस एम क्रिस्टनसेन, रॉबर्ट एस नोरिस और जुलिया डायमंड ने तैयार किया है.

इस रिपोर्ट में किये गए दावे अमेरिका के उस दावे की पोल खोलने के लिए काफी हैं, जिसमे अमेरिका ने 1999 में दावा किया था की 2020 तक पाकिस्तान के पास 60 से 80 परमाणु हथियार ही होंगे.परमाणु हथियार

इस रिपोर्ट के लिए पाकिस्तान के सैन्य अड्डों और एयरफोर्स के ठिकानों की सैटेलाइट से ली गई तस्‍वीरों की गहन स्‍टडी की गई है. इससे साफ़ होता है कि पाकिस्‍तान लगातार परमाणु हथियारों का भंडार बढ़ाने की की कवायद में हैं. पाकिस्तान द्वारा यह तैयारी अंडरग्राउंड अड्डों में की जा रही है.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि पाकिस्तान परमाणु हथियारों से लैस कम दूरी की मिसाइलों के विकास पर ज्यादा ध्यान दे रहा है. ऐसे में माना जा रहा है कि वह सिर्फ भारत के साथ परमाणु युद्ध की तैयारी कर रहा है. साथ ही वह न सिर्फ बचाव के लिए बल्‍कि‍ भारत के साथ रणनीतिक रूप से आगे निकलने के लिए इन परमाणु हथियारों को तैयार कर रहा है.

COMMENTS