अक्षय कुमार की योजना ‘भारत के वीर’ ने गाड़े सफलता के झंडे, करोड़ों में पहुंचा सहयोग

अक्षय कुमार की योजना ‘भारत के वीर’ ने गाड़े सफलता के झंडे, करोड़ों में पहुंचा सहयोग

फिल्म स्टार अक्षय कुमार की पहल पर पिछले साल शुरू की गयी ‘भारत के वीर’ योजना एक साल से भी कम समय में खूब लोकप्रिय हो चुकी है. इसकी सफलता का अंदाजा इसी ...

भारत की जवाबी कार्रवाई से घबराए पाक ने टेके घुटने, फायरिंग रोकने की लगाई गुहार
खुशखबरी: अब इन वाहनों को चलाने के लिए जरुरी नहीं होगा हैवी लाइसेंस, आर्डर जारी
भारत की नकल कर पाकिस्तान ने एक ही झटके में बचाए 60 करोड़ डॉलर, यूज किया मोदी का पुराना फार्मूला

फिल्म स्टार अक्षय कुमार की पहल पर पिछले साल शुरू की गयी ‘भारत के वीर’ योजना एक साल से भी कम समय में खूब लोकप्रिय हो चुकी है. इसकी सफलता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अब तक इस पोर्टल के जरिये करोड़ों रुपये की आर्थिक सहायता शहीदों के आश्रितों को मिल चुकी है. इस बारे में मंगलवार को लोकसभा में पूछे गए एक सवाल के जवाब में जानकारी देते हुए गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने ये जाकारी दी.

जानकारी के मुताबिक ‘भारत के वीर जवान’ नामक इस वेब पोर्टल की शुरुआत पिछले साल फिल्म स्टार अक्षय कुमार ने सरकार की मदद से की थी. इसका उद्घाटन केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अप्रैल (2017) में किया था. इस पोर्टल का मकसद देश की सीमाओं पर देश की रक्षा हेतु अपना बलिदान देने वाले वीर जवानों के आश्रितों को सहायता मुहैय्या करवाना था. किरण रिजिजू ने बताया कि इस पोर्टल के लिए सरकार ने कोई आयोजन भी नहीं किया जिससे की इस पोर्टल के लिए धन जमा किया जा सके.

गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने इस पोर्टल के लिए आंकड़े पेश करते हुए बताया कि अब तक देश भर से करीब 23 करोड़ रूपए की सहायता मिल चुकी है. जिसमें से 147 शहीदों के आश्रितों को सीधे खाते में लगभग 13 करोड़ रूपए की सहायता दी जा चुकी है. जबकि ‘भारत के वीर’ खाते में 10 करोड़ से भी अधिक की धनराशी इकट्ठी हो चुकी है. इस पोर्टल पर शहीद के आश्रितों की पूरी जानकारी और बैंक के खातों की जानकारी गयी है जिसमें देश का कोई भी व्यक्ति किसी भी शहीद के परिवार को आर्थिक मदद सीधे उनके खाते में कर सकता है. जिस भी शहीद परिवार के बैंक खाते में कुल सहायता राशी 15 लाख रूपए जमा हो जाती है उसका अकाउंट इस पोर्टल से अपने आप रिमूव हो जाता है.

COMMENTS