भारत की नकल कर पाकिस्तान ने एक ही झटके में बचाए 60 करोड़ डॉलर, यूज किया मोदी का पुराना फार्मूला

भारत की नकल कर पाकिस्तान ने एक ही झटके में बचाए 60 करोड़ डॉलर, यूज किया मोदी का पुराना फार्मूला

अभी पाकिस्तान में आम चुनाव हुए थे जिसमें पाकिस्तान की सभी राजनीतिक पार्टियों ने प्रधानमन्त्री मोदी को जमकर कोसा. लेकिन मुद्दे की बात पर मोदी सरकार द्व...

नोटबंदी के बाद मोदी सरकार का दूसरा बड़ा झटका, बंद हो सकता है चेक से लेनदेन
मोदी सरकार की ‘धन धना धन’ योजना, कीजिये सिर्फ ये काम और ले जाईये एक करोड़ से पांच करोड़ तक नकद
मोदी सरकार का मेगा प्लान: अब 25 साल तक मुफ्त मिलेगी बिजली, बस कीजिये ये काम

अभी पाकिस्तान में आम चुनाव हुए थे जिसमें पाकिस्तान की सभी राजनीतिक पार्टियों ने प्रधानमन्त्री मोदी को जमकर कोसा. लेकिन मुद्दे की बात पर मोदी सरकार द्वारा देश हित में किये गए सुधार भी चर्चा में रहे. इस बार पाकिस्तान ने मोदी के फार्मूले को आजमाकर भी लाभ उठाया है.

दरअसल, पाकिस्तान ने 2016 में कई देशों की तेल कंपनियों से मोलभाव करके नेचुरल गैस खरीदने के लिए सौदा किया था. इसके अंतर्गत अगले दस साल तक पाकिस्तान अपेक्षाकृत कम दामों में नेचुरल गैस की खरीद करेगा. इस डील में पाकिस्तान को तक़रीबन 60 करोड़ डॉलर अर्थात करीब 4300 करोड़ का शुद्ध लाभ हुआ.मोदी सरकार

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डील की यह तरकीब पाकिस्तान से पहले मोदी सरकार अपना चुकी है. पाकिस्तान की सरकारी तेल कंपनी पाकिस्तान स्टेट ऑयल (पीएसओ) की सालाना रिपोर्ट में कहा गया है कि नेचुरल गैस खरीदने की डील में पाकिस्तान को 60 करोड़ डॉलर का फायदा हुआ है.

पाकिस्तान की डील से करीब साल भर पहले अर्थात 2015 में भारत की मौजूदा मोदी सरकार ने इसी तरह की डील की थी. भारत की सरकारी कंपनी और सबसे बड़ी एलएनजी की इंपोर्टर पेट्रोनेट एलएनजी ने 2015 में कतर की  सरकारी गैस प्रोड्यूसर कंपनी रासगैस के साथ एक डील की थी. इस डील में भारत को पहले की अपेक्षा आधी कीमत पर नेचुरल गैस की आपूर्ति हो रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में कहा था कि इस डील से भारत को 8,000 करोड़ रुपए का फायदा हुआ है. इस डील के तहत भारत को साल 2028 तक इसी कीमत पर गैस मिलती रहेंगी.