बिक गई फ्लिप्कार्ट, दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स डील हुई 16 अरब डॉलर में

बिक गई फ्लिप्कार्ट, दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स डील हुई 16 अरब डॉलर में

ई-कॉमर्स वेबसाइट फ्लिप्कार्ट ने अपनी 77 फीसदी हिस्सेदारी अमेरिका की प्रतिष्ठित खुदरा कंपनी वालमार्ट को बेच दी है. वालमार्ट ने इसे करीब 16 अरब अमेरिकी ...

ट्राई की सख्ती के बावजूद बड़े पैमाने पर की जा रही है फर्जी KYC, प्रशासन बेखबर
शातिर ने लगाया अमेज़न को सवा करोड़ का चुना, तरीका जानकार हैरान रह जाओगे
इस शख्स ने दिया दुनिया के सबसे अमीर शख्स बिल गेट्स को झटका, खिसका दिया दुसरे पायदान पर

ई-कॉमर्स वेबसाइट फ्लिप्कार्ट ने अपनी 77 फीसदी हिस्सेदारी अमेरिका की प्रतिष्ठित खुदरा कंपनी वालमार्ट को बेच दी है. वालमार्ट ने इसे करीब 16 अरब अमेरिकी डॉलर खरीदने की आज घोषणा कर दी. इस सौदे के बाद वालमार्ट के सह-संस्थापक सचिन बंसल कंपनी छोड़ देंगे. इस डील को दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स डील माना जा रहा है. इस डील में फ्लिपकार्ट का कुल मूल्य करीब 21 अरब डॉलर आँका गया है.

लगभग 11 साल पुरानी फ्लिप्कार्ट की स्थापना दो दोस्तों, सचिन बंसल और बिन्नी बंसल ने 2007 में की थी. उन्होंने कंपनी में सबसे पहले किताबें बेचने का काम किया था. फ्लिपकार्ट में हिस्‍सेदारी रखने वाले जापानी ग्रुप सॉफ्टबैंक के सीईओ मासायोशी सोन ने भी इसकी पुष्टी की है. इस डील के लिए काफी दिनों से चर्चा चल रही थी. इस डील के लिए अमेज़न भी काफी समय से प्रयासरत थी लेकिन आखिरकार वालमार्ट ने इस डील को करके बाजी मार ली है. इस डील से अमेज़न को बड़ा झटका लगा है.

यह भो पढ़ें: व्हाट्सएप ला रहा है ये नया फीचर, जानकार ख़ुशी से झूम उठेंगे आप

विश्लेषकों की नज़र में दुनिया की इस सबसे बड़ी ई-कॉमर्स डील के लिए पिछले कई महीनों से अटकलों का बाज़ार गर्म था लेकिन इस मामले में दोनों में से किसी ने भी कोई टिप्पणी नहीं की. फ्लिप्कार्ट भारतीय बाज़ार का सबसे बड़ा ई-कॉमर्स समूह है लेकिन अमेरिकी कंपनी अमेज़न से इसे कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा था. इस डील के फाइनल होने के बाद सॉफ्ट बैंक, Nasper और Accel फ्लिपकार्ट से बाहर हो जायेंगे लेकिन टाइगर ग्लोबल, बिन्नी बंसल और टेनसेंट का हिस्सा कंपनी में बना रहेगा.

यह भी पढ़ें: सड़कों पर लगेगी नई एटीएम मशीनें, जहाँ एटीएम कार्ड नहीं कचरा डालने पर मिलेंगे पैसे

COMMENTS