हरियाणा: नगर निकाय चुनावों में बीजेपी की बम्पर जीत, पांचों सीटों पर किया क्लीन स्वीप

हरियाणा: नगर निकाय चुनावों में बीजेपी की बम्पर जीत, पांचों सीटों पर किया क्लीन स्वीप

हरियाणा नगर निकाय चुनाव में बीजेपी ने बड़ी जीत दर्ज की है. पांच नगर निगमों में बीजेपी ने क्लीन स्वीप किया है. आपकी जानकारी के लिए बता दें की हरियाणा म...

मोदी का किसानों के लिए बड़ा फैसला, फसलों के दाम लागत से डेढ़ गुणा करने को नई खरीद प्रक्रिया को मंजूरी
पाकिस्तान ने दी बीजेपी अध्यक्ष को जान से मारने की धमकी, कराची से आया फ़ोन
बीजेपी ने जारी की चुनाव प्रभारियों की सूची, एमपी से धर्मेन्द्र प्रधान तो राजस्थान से जावडेकर

हरियाणा नगर निकाय चुनाव में बीजेपी ने बड़ी जीत दर्ज की है. पांच नगर निगमों में बीजेपी ने क्लीन स्वीप किया है. आपकी जानकारी के लिए बता दें की हरियाणा में पांच नगर निगम पानीपत, करनाल, हिसार, रोहतक, यमुनानगर और दो नगरपालिकाओं के लिए 16 दिसंबर को हुए मतदान हुआ था.

मोदी के मंत्री ने कहा- सबके खाते में आयेंगे 15-15 लाख रूपए, RBI से माँगा जा रहा है पैसा

इन चुनावों के नतीजे बुधवार को घोषित किये गए. पाँचों सीटों पर बीजेपी की बम्पर जीत के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने इसे हरियाणा की जनता, बीजेपी के कार्यकर्ताओं और सरकार की नीति की जीत बताया है.

नतीजों की बात करें तो पानीपत नगर निगम मेयर पद की प्रत्याशी अवनीत कौर ने रिकॉर्ड 74 हजार 940 वोटों से जीत हासिल की. जबकि करनाल की रेणु बाला गुप्ता ने 9348 वोटों से विजय श्री पाई. वहीं यमुनानगर में बीजेपी प्रत्याशी मदन चौहान ने 40 हजार 678 वोट से जबकि हिसार में गौतम सरदाना ने 28 हजार 91 वोट से जीत हासिल की. रोहतक में बीजेपी के मेयर उम्मीदवार मनमोहन गोयल ने जीत दर्ज की है. 

गौरतलब है की रोहतक को पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का गढ़ माना जाता है लेकिन बीजेपी के मेयर प्रत्याशी मनमोहन गोयल ने 14 हजार 776 वोटों से जीत दर्ज की. बीजेपी ने सिंबल पर चुनाव लड़ा है. कांग्रेस ने सिंबल पर चुनाव नहीं लड़ा है, लेकिन इनेलो-बसपा गठबंधन ने मेयर पद के प्रत्याशी सिंबल पर उतारे हैं.

सीएम बनते ही इस प्रदेश के मुख्यमंत्री ने किया सबसे बड़ा वादा पूरा, ख़ुशी से झूम उठेंगे सभी किसान

नतीजों में बीजेपी की जीत के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार के आखिरी साल में कई बार कहा जाता है कि एंटी इनकंबेसी है लेकिन ये रिजल्ट बताते हैं कि हमारी नीतियों से जनता खुश है. हम जींद उपचुनाव लोकसभा और विधानसभा भी जीते हैं. सीएम ने लोकसभा विधानसभा चुनाव साथ कराने पर कहा 2019 तक माहौल नहीं लगता. केंद्र प्रस्ताव लाएगा तो साथ चुनाव कराने को तैयार लेकिन 2024 तक शायद देश में माहौल बने की लोकसभा विधानसभा चुनाव साथ हो.