चैत्र नवरात्री में माँ भगवती को प्रसन्न करने के लिए रखें इन बातों का ख़ास ख्याल

चैत्र नवरात्री में माँ भगवती को प्रसन्न करने के लिए रखें इन बातों का ख़ास ख्याल

साल 2018 की 18 मार्च से हिन्दू नववर्ष प्रारम्भ हो रहा है इसी के साथ ही चैत्र नवरात्र भी. रविवार से शुरू होने जा रहे नवरात्र इस बार नौ दिन की बजाये आठ ...

चीन ने दिया धोखा, डोकलाम पर फिर भेज रहा सेना
बड़े बदलाव की तैयारी में रेलवे, अब फिर कभी नज़र नहीं आएगा आपको ट्रेनों का ये नीला रंग
Samsung Galaxy Note 8 और s9 की सामने आई बड़ी खामी, लीक कर रहा प्राईवेट डाटा

साल 2018 की 18 मार्च से हिन्दू नववर्ष प्रारम्भ हो रहा है इसी के साथ ही चैत्र नवरात्र भी. रविवार से शुरू होने जा रहे नवरात्र इस बार नौ दिन की बजाये आठ दिन के होंगे क्योंकि इस बार अष्टमी तिथि और नवमी तिथि एक ही दिन पड़ रही है. इस बार नवरात्र को काफी शुभ माना जा रहा है क्योंकि इस बार चैत्र नवरात्री का प्रारम्भ सर्वार्थ सिद्धि योग में होगा. इन नौ दिनों में भक्तजन माता भगवती को प्रसन्न करने के लिए नवरात्र का व्रत करते हैं लेकिन पूरी जानकारी के अभाव में कई बार कुछ गलतियां हो जाती है जिस वजह से उन्हें पूजा-पाठ का पूरा लाभ नहीं मिल पाता है.

आज हम आपको इन्हीं नौ दिनों से जुड़े कुछ आवश्यक नियम और सावधानियां बताने जा रहे हैं जिस पर आप अमल करके माँ भगवती को प्रसन्न कर सकते हैं. नवरात्री के नौ दिनों में उपवास रखने वाले साधक को अपने बाल नहीं कटवाने चाहिए और ना ही उन्हें शेविंग बनवानी चाहिए, लेकिन इन दिनों में बच्चों का मुंडन करवाना शुभ होता है. शास्त्रों के अनुसार देवी भगवती की दिशा दक्षिण दिशा मानी जाती है इसलिए माँ भगवती की पूजा करते समय आप मुख दक्षिण में या पूर्व में होना चाहिए.

जिस तरह किसी भी शुभ काम को करने से पहले स्वास्तिक का चिन्ह बनाया जाता है वैसे भी नवरात्र शुरू होने से पहले घर के मुख्य दरवाजे और मंदिर के द्वार पर स्वास्तिक का निशान जरूर बनायें इससे आपको नौ दिनों में सात्विक विचारधारा और मन की शांति का अनुभव होगा. नवरात्री में कलश की स्थापना करने के बाद अखंड ज्योत जलाई जाती है तो उस दौरान घर को सुना छोड़कर नहीं जाना चाहिए.

नवरात्री के नौ दिनों में खाने में नॉनवेज खाने से परहेज करें और प्याज और लहसुन भी नहीं खाने चाहिए और ना ही इन दिनों में निम्बू काटना चाहिए. विष्णु पुराण के अनुसार नवरात्र के दौरान दिन में नींद लेना दरिद्रता को बुलावा देना माना जाता है. नवरात्र के व्रत रखने वाले को व्रत के दौरान चमड़े की चीजों के इस्तेमाल से बचना चाहिए.

COMMENTS