चक्रवाती तूफ़ान पेथाई आज मचा सकता है भयंकर तांडव, इन इलाकों में उफान मार रही समुद्री लहरें

चक्रवाती तूफ़ान पेथाई आज मचा सकता है भयंकर तांडव, इन इलाकों में उफान मार रही समुद्री लहरें

चक्रवाती तूफान पेथाई का कहर बढ़ता ही जा रहाहै. 17 दिसम्बर को पेथाई आंध्रप्रदेश के बड़े हिस्से में प्रवेश करने वाला है. मौसम विभाग ने इन इलाके के लोगों...

खतरनाक तितली तूफ़ान अगले 48 घंटे में मचा सकता है भारी तबाही- रेड अलर्ट, स्कूल-कॉलेज बंद
अगले 24 घंटों में भयानक रूप ले सकता है गाजा तूफ़ान, 12 kmph की रफ्तार से बढ़ रहा है आगे
मौसम: अगले तीन दिनों तक दिल्ली समेत उत्तर भारत के कई राज्यों में जबरदस्त बारिश के आसार

चक्रवाती तूफान पेथाई का कहर बढ़ता ही जा रहाहै. 17 दिसम्बर को पेथाई आंध्रप्रदेश के बड़े हिस्से में प्रवेश करने वाला है. मौसम विभाग ने इन इलाके के लोगों को अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि तटीय आंध प्रदेश और उत्तरी तमिलनाडु में बारिश हो सकती है, क्योंकि गहरे दबाव के क्षेत्र केजबर्दस्त चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका है.

विजय माल्या के भारत प्रत्यर्पण को मंजूरी,मुंबई की इस जेल में बीतेंगी उसकी रातें, बैरक तैयार

मौसम विभाग ने अनुमान जताया है की पेथाई आज आंध्रप्रदेश के काकीनाड़ा और ओंगोल के बीच चक्रवात सोमवार को तटीय रेखा पार कर सकता है. मौसम विभाग के बुलेटिन में कहा गया कि शनिवार से आंध्र प्रदेश, उत्तरीतमिलनाडु और पुडुचेरी तटों पर 45 से 50 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं.

मौसम विभाग का कहना है की दक्षिणपूर्व बंगाल कीखाड़ी के ऊपर बना गहरे दबाव का क्षेत्र पश्चिम-उत्तरपश्चिम की ओर बढ़ा और शनिवार की सुबह दक्षिणपश्चिम और दक्षिणपूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर पहुंचा.  दबाव का क्षेत्र यहां से 690 किलोमीटर दक्षिणपूर्व में और आंध्र प्रदेश के मछिलीपट्टनम के 890 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिणपूर्व में और श्रीलंका के त्रिणकोमाली के 440 किलोमीटर पूर्व-उत्तरपूर्व में मौजूद है.

1 दिसम्बर से बदल गए ये पांच महत्वपूर्ण नियम, जानिए क्या होगा आप पर असर

मौसम विभाग के सीनियर अधिकारीयों द्वारा कहा गया है कि अगले 24 घंटे में चक्रवाती तूफान के तीव्र होने औरउसके बाद के 24 घंटे में गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है. तूफान के उत्तर-उत्तरपश्चिम की ओर बढने तथा 17 दिसंबर की दोपहर ओंगोल और काकीनाड़ा के बीच आंध्र प्रदेश की तटीय सीमा पार करने की संभावना है. उन्होंने कहा है की इस वजह से तटीय आंध्रप्रदेश के अधिकतर स्थानों पर बारिश होने व कुछ स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है. जबकि आंध्रप्रदेश के तटीय इलाकों में 80 से 90 किमी की रफ़्तार से हवाएं चलने की संभावना है.