खट्टर सरकार की दो टूक- नमाज पढ़ना है तो ईदगाह या मस्जिद जायें, खुले में ना पढ़ें नमाज

खट्टर सरकार की दो टूक- नमाज पढ़ना है तो ईदगाह या मस्जिद जायें, खुले में ना पढ़ें नमाज

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने गुरुग्राम में सार्वजनिक स्थलों पर नमाज पढ़ रहे लोगों को हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं द्वारा भगाने के मामले के...

अगर करते हैं अधिक समय तक बैठकर काम तो हो जाएँ सावधान, जल्दी ही आ सकता है मौत का पैगाम
Box Office: संजू की धुँआधार कमाई ने तोड़े रिकॉर्ड, दो दिनों में हुई इतनी कमाई की पीछे रह गए सलमान
कांग्रेस के मंत्री ने मांगी फॉर्च्यूनर, कहा- छोटी गाड़ी में कोई नहीं देखता

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने गुरुग्राम में सार्वजनिक स्थलों पर नमाज पढ़ रहे लोगों को हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं द्वारा भगाने के मामले के बाद आज चुप्पी तोड़ी. सीएम ने कहा कि नमाज मस्जिद या ईदगाह में ही पढ़ी जानी चाहिए, खुले में नहीं. खट्टर ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाये रखना हमारा काम है. आजकल खुले में नमाज की घटनाएं बढ़ी है लेकिन जिन्हें नमाज पढनी है उन्हें नजदीकी मस्जिद या ईदगाह में जाना चाहिए.

आपको बता दें कि आज शाम से खट्टर दस दिवसीय इस्रायल और यूके के दौरे पर जा रहे हैं. इसलिए खट्टर ने प्रेसवार्ता बुलाई थी जिसमें पत्रकारों ने गुरुग्राम की घटना का जिक्र करते हुए सवाल पूछा था जिसका जवाब देते हुए खट्टर ने कहा कि, ‘जब तक किसी को आपत्ति न हो सार्वजनिक स्थलों पर नमाज पढ़ने पर हमें भी कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन जब किसी की शिकायत आए तो फिर ऐसा नहीं करने दिया जाएगा. ऐसे कोई भी काम जिनसे प्रदेश में कानून व्यवस्था खराब होने का अंदेशा हो उन्हें नहीं करने दिया जायेगा.

आपको बता दें कि अभी हाल ही में गुरुग्राम में सार्वजनिक स्थलों पर नमाज पढ़ रहे लोगों को भगाने का एक विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. उसके बाद कई अन्य जगहों पर भी ऐसी ही घटनाएँ सामने आई. उसके बाद पुलिस ने हिन्दू संगठन के कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया था और आगे से ऐसी घटनाएँ ना हो इसके लिए ऐसी जगहों पर पुलिस को ड्यूटी भी लगाई गई ताकि फिर ऐसी घटनाओं की पुनरावृति ना हो.

यह भी पढ़ें: हरियाणा के 22 जिलों को सीएम की सौगात, मनोहरलाल खट्टर के जन्मदिन पर 309 व्यायामशालाओं का उद्घाटन

COMMENTS