अजब गजब: कभी ना होने वाला सपना हुआ सच, बेटी ने दिया माँ के गर्भाशय से बच्चे को जन्म

अजब गजब: कभी ना होने वाला सपना हुआ सच, बेटी ने दिया माँ के गर्भाशय से बच्चे को जन्म

महाराष्ट्र के पुणे के एक हॉस्पिटल ने विज्ञान की मदद से ऐसा कारनामा कर दिखाया है जिसने भारत ही नहीं पूरी दुनिया को चौंका दिया है. इस हॉस्पिटल में ट्रां...

BSF जवान तेज बहादुर पर टुटा दुखों का पहाड़, खाने की क्वालिटी पर सवाल उठाकर आये थे चर्चा में
10 प्रतिशत आरक्षण: किसे और कैसे मिलेगा फायदा, जानिए हर सवाल का जवाब
अभी अभी: भारत ने फिर की पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक, कई आतंकी कैंप कर दिए तबाह

महाराष्ट्र के पुणे के एक हॉस्पिटल ने विज्ञान की मदद से ऐसा कारनामा कर दिखाया है जिसने भारत ही नहीं पूरी दुनिया को चौंका दिया है. इस हॉस्पिटल में ट्रांसप्लांट किए  (transplanted uterus) से एक महिला ने एक शिशु को जन्म दिया है. ट्रांसप्लांट हुए गर्भाशय से बच्चे को जन्म देने की यह भारत ही नहीं अपितु एशिया की पहली घटना है.गर्भाशय

गुजरात की रहने वाली मीनाक्षी को बार बार गर्भपात होने की वजह से उनके गर्भाशय ने काम करना बंद कर दिया. उसके बाद तो मीनाक्षी ने माँ बनने का सपना ही छोड़ दिया. लेकिन अब मेडिकल जगत के इस चमत्कार ने उनकी इस खोई हुई उम्मीद को वापिस कर दिया.

पुणे स्थित गैलेक्सी केयर हॉस्पिटल के मेडिकल डायरेक्टर ने बताया कि तीन बार गर्भपात होने के बाद मीनाक्षी का गर्भाशय काम करना बंद कर दिया था. इसके बाद मई 2017 को उनमें उनकी मां का गर्भाशय ट्रांसप्लांट किया गया. इसके बाद ट्रांसप्लांट गर्भाशय में भ्रूण (embryo) ट्रांसफर किया गया, जिसके 32 सप्ताह बाद 18 अक्टूबर 2018 को मीनाक्षी ने एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया.गर्भाशय

इस बारे में गैलेक्सी केयर हॉस्पिटल के मेडिकल डायरेक्टर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि यह एशिया में पहला बच्चा है, जिसका जन्म ट्रांसप्लांट किये हुए गर्भाशय से हुआ है. बच्चे के जन्म के बाद मीनाक्षी और उनके पति ने विज्ञान के इस चमत्कार पर ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा कि हमारा कभी ना पूरा होने वाला सपना आखिरकार सच हो गया. उन्होंने कहा कि हम इस बच्चे के जन्म से बेहद खुश हैं. हमको इस दिन का लंबे समय से इंतजार था.