दिवाली की रात जरुर करें ये ख़ास टोटके, माँ लक्ष्मी की कृपा से साल भर बरसेगा अपार धन

दिवाली की रात जरुर करें ये ख़ास टोटके, माँ लक्ष्मी की कृपा से साल भर बरसेगा अपार धन

दिवाली की रात बहुत ख़ास होती है, ये बात वो लोग बहुत अच्छी तरह से जानते हैं जिन्हें इस रात बहुत सी सिद्धियों और मन्त्रों को सिद्ध करने के लिए इस रात का ...

धर्म संसद में हो गया निर्णय, अब इस दिन मनाया जायेगा दशहरा का पर्व
दिवाली की रात लक्ष्मी पूजन के बाद क्यों बनाया जाता है जादुई काजल, जानिए इसका रहस्य
दिवाली पर पटाखों की बिक्री को लेकर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, दिया ये आदेश

दिवाली की रात बहुत ख़ास होती है, ये बात वो लोग बहुत अच्छी तरह से जानते हैं जिन्हें इस रात बहुत सी सिद्धियों और मन्त्रों को सिद्ध करने के लिए इस रात का बेसब्री से इन्तजार रहता है. इस दिन माँ लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने के लिए कुछ ख़ास उपाय किये जाते हैं जिससे उन पर माँ लक्ष्मी जी की अपार कृपा बनी रहती है. कहा जाता है की इस दिन माँ लक्ष्मी जी को बहुत जल्दी प्रसन्न किया जा सकता है.

दिवाली की रात

अगर आप इस दिन लक्ष्मी-पूजन के दौरान महालक्ष्मी के महामंत्र ‘ऊँ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद् श्रीं ह्रीं श्रीं ऊँ महालक्ष्मयै नम:’ का कमलगट्टे की माला से 108 बार जप करेंगे तो आप पर माँ लक्ष्मी जी की कृपा बनी रहेगी. इस दिन लक्ष्मी-पूजन के बार घर के सारे कमरों में शंख और घंटी बजाएं जिससे घर की साड़ी निगेटिविटी दूर हो जाएगी.

दिवाली के दिन शिवलिंग पर अक्षत यानी चावल (चावल का पूरा और लम्बा दाना होना चाहिए, जो खंडित ना हो) चढ़ाएं. ये काम आपको मंदिर में ही करना है. दिवाली पर महालक्ष्मी जी के पूजन में पिली कौड़ियाँ रखें इससे आपकी धन सम्बन्धी सारी परेशानियां दूर हो जाएँगी. लक्ष्मी पूजन में हल्दी की गांठ जरूरी रखें और पूजा के बाद इसे अपने तिजोरी में रखें.दिवाली की रात

मान्यता है की दिवाली के दिन झाड़ू जरुर खरीदना चाहिए. पुरे घर की साफ़-सफाई नई झाड़ू से करें. जब झाड़ू से कोई काम ना हो तो उसे छुपाकर रखना चाहिए. इस दिन झाड़ू का दान मंदिर में करना भी अति शुभ माना गया है. अगर आपके आसपास महालक्ष्मी जी का कोई मंदिर हो तो वहां अच्छी सुगंध वाली अगरबत्ती का दान करें.

दिवाली अमावस्या के दिन पड़ती है. इसलिए इस दिन पीपल के पेड़ में जल जरूर दें. इससे शनि के दोष और कालसर्प दोष खत्म हो जाता है. साथ ही देर रात पीपल के पेड़ के नीचे तेल का दीपक जलाएं. ध्यान रखें दीपक लगाकर चुपचाप अपने घर लौट आएं, पलटकर न देखें.

दीपावली पर पूजा में लक्ष्मी यंत्र, कुबेर यंत्र और श्रीयंत्र स्थापित करें. स्फटिक का श्रीयंत्र बेहतर होगा. दीपावली की रात माँ लक्ष्मी की पूजा करते समय एक थोड़ा बड़ा घी का दीपक जरूर जलाएं, जिसमें नौ बत्तियां लगाई जा सके (फिर अगर कहीं से नौ मुख का दीपक मिलता हो तो उसे यूज़ करें) सभी 9 बत्तियां जलाएं और लक्ष्मी पूजा करें.दिवाली की रात

प्रथम पूज्य श्रीगणेश को दूर्वा अर्पित करें. दूर्वा की 21 गांठ गणेशजी को चढ़ाने से उनकी कृपा प्राप्त होती है. दीपावली के शुभ दिन यह उपाय करने से गणेशजी के साथ महालक्ष्मी की कृपा भी जल्दी प्राप्त होती है. दीपावाली पर श्रीसूक्त एवं कनकधारा स्तोत्र का पाठ करना चाहिए. रामरक्षा स्तोत्र या हनुमान चालीसा या सुंदरकांड का पाठ भी किया जा सकता है. इस दिन लक्ष्मी-पूजन में सुपारी रखें. सुपारी पर लाल धागा लपेटकर अक्षत, कुमकुम, पुष्प आदि पूजन सामग्री से पूजा करें और पूजन के बाद इस सुपारी को तिजोरी में रखें.

COMMENTS

WORDPRESS: 1
DISQUS: 0