डीएम के पास फरियादी बनकर पहुंची 100 साल की बूढ़ी महिला, डीएम ने उठाया इतना बड़ा कदम

डीएम के पास फरियादी बनकर पहुंची 100 साल की बूढ़ी महिला, डीएम ने उठाया इतना बड़ा कदम

हम अक्सर अपने आसपास ऐसी घटनाएं सुनते रहते हैं की किसी बूढ़े बुजुर्ग को बुढ़ापे में बेटों ने घर से निकाल दिया या फिर वो उन्हें रोटी नहीं दे रहे हैं. लेकि...

ऑपरेशन आल आउट: पूरी तरह आतंकवाद से मुक्त हुआ कश्मीर का ये जिला
डाटा लीक मामले पर फेसबुक को भारत की चेतावनी, कहा- ऐसी हरकत हम बर्दाशत नहीं करेंगे
धर्म संसद में हो गया निर्णय, अब इस दिन मनाया जायेगा दशहरा का पर्व

हम अक्सर अपने आसपास ऐसी घटनाएं सुनते रहते हैं की किसी बूढ़े बुजुर्ग को बुढ़ापे में बेटों ने घर से निकाल दिया या फिर वो उन्हें रोटी नहीं दे रहे हैं. लेकिन ये घटना उससे कुछ अलग है लेकिन है सबके लिए प्रेरणादायक. यूपी के फैज़ाबाद अयोध्या के मुमताज नगर गांव की निवासी बुजुर्ग महिला ने मदद के लिए जिला अधिकारी के पास पहुँची. बुजुर्ग महिला रमापति की उम्र 100 साल से भी अधिक हो चुकी है और वह अकेले घर में रहती है. रमापति के घर में कोई भी सदस्य नहीं है.

इतनी अधिक उम्र, ऊपर से परिवार में साथ देने वाला कोई नहीं. कोढ़ में खाज ये की आमदनी का कोई स्रोत नहीं. रोटियों के लाले पड़ने के कारण जब बेबस रमापति महिला जिला अधिकारी अनिल कुमार पाठक के पास गुहार लगाने पहुँची. साथ में रमापति अपना पहचान पत्र भी लेकर पहुँची थी. जिला अधिकारी ने रमापति की सारी कहानी बड़े ध्यान से सुनी.DM anil kumar pathak

उनकी हालत जानकार जिला अधिकारी अनिल कुमार पाठक की आँखे भर आई. उन्होंने तुरंत रमापति के आगे की ज़िंदगी में देखभाल करने की जिम्मेदारी ले ली. जिला अधिकारी अनिल कुमार पाठक ने इस महिला को मां बनाकर गोद लिया है. रमापति को सरकारी योजनाओं के साथ-साथ वो अपनी तरफ से भी सहायता दे रहे है. इसके अलावा डीएम ने बुजुर्ग महिला रमापति का अपने पर खर्च उठाने का वादा किया है.

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0