सूर्यग्रहण के दिन भूलकर भी ना करें ये काम, वरना हो जायेगा अनर्थ- आवश्यक सावधानियां

सूर्यग्रहण के दिन भूलकर भी ना करें ये काम, वरना हो जायेगा अनर्थ- आवश्यक सावधानियां

साल का दूसरा सूर्यग्रहण जुलाई की 13 तारीख को होने वाला है. दो घंटे 25 मिनट तक रहने वाले इस ग्रहण के लिए सूतक लगभग 12 घंटे पहले लगेगा. सूर्यग्रहण सुबह ...

नहीं रहे तरुण सागर, पीलिया से पीड़ित जैन मुनि ने इलाज करवाने से कर दिया था इनकार
अब धर्मगुरु सिखायेंगे जनता को परिवार नियोजन, बेसहारा सरकार को अब इन्ही का सहारा
बड़े बदलाव की तैयारी में रेलवे, अब फिर कभी नज़र नहीं आएगा आपको ट्रेनों का ये नीला रंग

साल का दूसरा सूर्यग्रहण जुलाई की 13 तारीख को होने वाला है. दो घंटे 25 मिनट तक रहने वाले इस ग्रहण के लिए सूतक लगभग 12 घंटे पहले लगेगा. सूर्यग्रहण सुबह सुबह 7 बजे से शुरू होकर 9 बजकर 44 मिनट में खत्‍म होगा. सूर्यग्रहण के दौरान कुछ आवश्यक सावधानी रखनी जिससे हम पर ग्रहण का नकारात्मक प्रभाव ना पड़े. भारत में इस सूर्यग्रहण का नजारा दिखाई नहीं देगा. ये ऑस्ट्रेलिया, मेलबॉर्न, अंटार्कटिका, ऑस्ट्रिया के उत्तरी भाग में नजर आएगा. इसके बाद अगला सूर्यग्रहण इसी साल 11 अगस्‍त को देखने को मिलेगा लेकिन उसको भी भारत में नहीं देखा जा सकेगा. उसे चीन, तिब्बत, नार्वे और मंगोलिया में दिखा जा सकेगा.

ग्रहण के बारे में जानने से पहले ये जानना आवश्यक है की ये ग्रहण होता क्या है? दरअसल, पृथ्वी अपनी धुरी पर घूमने के साथ-साथ अपने सौरमंडल के सूर्य के चारों ओर भी चक्कर लगाती है. दूसरी ओर, चंद्रमा पृथ्वी का ही उपग्रह है और उसके चक्कर लगता रहता है, परिणामस्वरूप  जब भी चंद्रमा चक्कर काटते-काटते सूर्य और पृथ्वी के बीच आता है, तब पृथ्वी पर सूर्य आंशिक या पूर्ण रूप से दिखना बंद हो जाता है. इसी घटना को सूर्य ग्रहण कहा जाता है.

कहा जाता है की ग्रहणकाल के दौरान साधना और मन्त्र जाप का फल लाखों गुणा अधिक मिलता है. इस दिन नियम और संयम के साथ जप, तप और हवन यज्ञ करना सभी बाधाओं से मुक्ति प्रदान करता है. समस्त प्रकार के सुखों को चाहने वाले इस दिन को साधना के लिए स्वर्णिम मानते हैं. शास्त्रों के अनुसार इस दिन दान करने वाले को अकूत सम्पति की प्राप्ति होती है. ग्रहणकाल के दौरान आहार करना निषेद्ध किया गया है और इस समय कोई भी काटने से सम्बंधित कार्य ना करें.

लेकिन इन सबके इतर हमें सूर्यग्रहण से होने वाले नुकसान से बचने के लिए कुछ सावधानियां रखनी जरूरी है ताकि किसी नुकसान से बचा जा सके. सूर्यग्रहण को कभी भी नंगी आंखों से डायरेक्ट ना देखें. इससे आपकी आंखें डैमेज हो सकती है. आपके पास आंखों को बचाने के लिए कुछ भी ना हो तो सूर्यग्रहण के दौरान पीठ करके चलें. लेकिन कोशिश करें की ग्रहण के दौरान बाहर निकलना ही ना पड़ें और जब अति आवश्यक हो जाये तभी बहार निकलें.

ग्रहण चाहे सूर्य का हो या चन्द्र का, गर्भवती स्त्रियों को इस दौरान बाहर नहीं निकलना चाहिए. आजकल सभी के पास एंड्राइड फ़ोन है तो ऐसे में भूलकर भी मोबाइल से ग्रहण की फोटो ना लें. अगर फिर भी ज्यादा जरूरी हो तो अनफिल्टर्ड कैमरे से कभी भी सूर्यग्रहण की तस्वीरें न उतारें और न ही ऐसी कोई दूसरे डिवाइस का इस्तेमाल करें. बहुत लोग सोलर फिल्टर लगाकर कैमरे से तस्वीर उतारते हैं, इसका असर भी आंखों के लिए खतरनाक हो जाता है. दरअसल कैमरे के लेंस और सोलर फिल्टर मिलकर किरणों को और तीव्र बना देती हैं जो हमारी आंखों को नुकसान पहुंचा देती है.

COMMENTS