जाग उठा किम जोंग उन, दुनिया पर फिर मंडराया खतरा

जाग उठा किम जोंग उन, दुनिया पर फिर मंडराया खतरा

पिछले साल जब उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच जब हालात ‘लाल निशान’ से ऊपर चले गए थे तब पूरी दुनिया दहशत के साये में जी रही थी. हर दिन, हर क्षण लग रहा था...

नाभी है कुदरत का अनमोल तोहफा, इन उपायों से करें उसकी देखरेख और पायें बेहतर स्वास्थ्य
राखी सावंत का महिला पहलवान को चैलेंज देना पड़ा भारी, रिंग में उठाकर पटका, हॉस्पिटल में भर्ती
10 रूपए के सिक्के को लेकर RBI का बड़ा बयान, जानिए असली- नकली सिक्के की सच्चाई

पिछले साल जब उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच जब हालात ‘लाल निशान’ से ऊपर चले गए थे तब पूरी दुनिया दहशत के साये में जी रही थी. हर दिन, हर क्षण लग रहा था की कहीं दोनों के बीच परमाणु युद्ध ना छिड़ जाए. लेकिन दक्षिण कोरिया, रूस और चीन ने बीच बचाव करके किम जोंग उन को बातचीत के लिए राजी कर ही लिया. कई देशों की अथक मेहनत से डोनाल्ड ट्रम्प और किम जोंग ने सिंगापुर में मुलाक़ात की. पूरी दुनिया हैरान रह गई जब अमेरिका के कहने पर किम जोंग ने अपनी न्यूक्लियर साइट को धमाके से भी उड़ा दिया.

किम जोंग

नेपाल में हुई नोटबंदी, गैर क़ानूनी घोषित कर दिए गए भारत के ये नोट

अब आप सोच रहे होंगे की हम आपको ये पुरानी घटना क्यूँ स्मरण करा रहे हैं? दरअसल, जब सिंगापुर में डोनल्ड ट्रंप के साथ किम जोंग उन ने हाथ मिलाया. और अमेरिका के कहने पर अपनी न्यूक्लियर साइट को धमाके से भी उड़ा दिया. यकीन तो नहीं हो रहा था. मगर फिर भी दुनिया ने यकीन किया. सोचा, किम बदल गया है. मगर ऐसा नहीं है. क्योंकि किम फिर अपने तेवर में लौट आया है.

हाल ही में कुछ सैटेलाइट तस्वीरों ने किम की पोल खोल दी है. तस्वीरों के बाद ये सामने आया की उत्तर कोरिया ने 13 खुफिया मिसाइल ठिकाने बनाए हैं. इससे सवाल उठता है कि क्या उत्तर कोरिया का शासक किम जोंग अमेरिका को धोखा दे रहा है? तो क्या इसे किम जोंग की दुनिया से वादा खिलाफी माना जाये?

नार्थ कोरिया के तानाशाह शासक मार्शल किम जोंग उन ने 12 मई 2018 को एक बयान दिया था कि अगर मौसम ठीक रहा तो 23 से 25 मई तक देश के मध्य पुंग्ये-री परमाणु परीक्षण स्थल को नष्ट कर दिया जाएगा. किम ने 12 जून को सिंगापुर में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप से मुलाकात से पहले पुंग्ये-री में अपनी परमाणु साइट को खत्म करने का वादा किया था. अपने वादे के मुताबिक उसने दुनियाभर के पत्रकारों के सामने पुंग्ये-री की इस साइट को कई धमाकों से ज़मींदोज़ कर भी दिया. मगर ये किम है. जो नज़र तो आता है. मगर समझ में नहीं आता.

पीएम मोदी के आगे झुका चीन, अब सारे विवाद भूलकर साथ करेंगे काम

किम के इस कदम के बाद अमेरिका समझ रहा था की उसने अपनी कूटनीति से दुश्मन को काबू में करने में सफलता प्राप्त कर ली है. लेकिन अब किम की इस चाल ने अमेरिका समेत दुनिया भर की नींद उड़ा दी है. प्योंग-री की साइट को अगर उसने दुनिया भर की मीडिया के कैमरों के सामने तबाह किया. तो उसके बदले दुनिया से छुपकर उसने 13 ऐसे गुप्त ठिकाने तैयार कर लिए जहां पर वो अपने बलिस्टिक मिसाइल प्रोग्राम को आगे बढ़ा रहा है.

सेटेलाइट तस्वीरों में उत्तर कोरिया के परमाणु शक्ति से लैस अपनी मिसाइलों को छिपाने के लिए 13 ठिकाने नज़र आए हैं. मगर ऐसा अनुमान लगाता जा रहा है कि ये तादाद 20 भी हो सकती है. अमेरिकी सेंटर फार स्ट्रैटेजिक एंड इंटरनेशनल स्टडीज यानी सीएसआईएस के रिसर्चरों ने इस बारे में जो रिपोर्ट जारी की है. इस तस्वीरों से साफ़ पता चलता है की उत्तर कोरिया एक बड़े परमाणु अभियान में जोरों-शोरों से जुटा हुआ है.

COMMENTS