बाल-ब्रह्मचारी हनुमान थे विवाहित, दुनिया के एकमात्र इस मंदिर में विराजमान है पत्नी के साथ

बाल-ब्रह्मचारी हनुमान थे विवाहित, दुनिया के एकमात्र इस मंदिर में विराजमान है पत्नी के साथ

हनुमान जी को बाल-ब्रह्मचारी माना जाता है और वो थे भी बाल-ब्रह्मचारी, इसमें कोई शक भी नहीं है. हनुमान जी को हम लंगोट धारण किए हर मंदिर और तस्वीरों में ...

इस शख्स ने दिया दुनिया के सबसे अमीर शख्स बिल गेट्स को झटका, खिसका दिया दुसरे पायदान पर
जल्द आ रहा है 10 रूपए का नया नोट, रंग और डिजाइन समेत ये फीचर होंगे ख़ास
राजकुमार सैनी का विवादित बयान, हुड्डा के पूर्वजों ने दिलाई राजगुरु-सुखदेव को फांसी

हनुमान जी को बाल-ब्रह्मचारी माना जाता है और वो थे भी बाल-ब्रह्मचारी, इसमें कोई शक भी नहीं है. हनुमान जी को हम लंगोट धारण किए हर मंदिर और तस्वीरों में जरूर देखते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं की हनुमान जी विवाहित थे? जी हाँ, हनुमान जी विवाहित थे और अगर आप उन्हें उनकी पत्नी को देखना चाहते हैं तो आपको तेलंगाना जाना होगा.

महज पौधा नहीं है तुलसी, अगर इस जगह लगाओगे तो खुल जायेंगे साक्षात कुबेर के भण्डार

 

तेलंगाना के खम्मम जिले में हनुमान जी का एक अति प्राचीन मंदिर है. इस मंदिर में हनुमान जी के साथ उनकी पत्नी भी विराजमान है. यह मंदिर इकलौता गवाह है हनुमान जी के विवाह का. मान्यता है की जब हनुमान जी सूर्य देव से शिक्षा ग्रहण कर रहे थे उस दौरान एक ऐसी विद्या, (जिसे केवल विवाहित ही सीख सकते थे) जिसे सीखने के लिए सूर्यदेव ने हनुमान जी के आगे शर्त रख दी की इस विद्या को सीखने के लिए आपको विवाह करना होगा या फिर इस विद्या को सीखने का संकल्प छोड़ना होगा? अब हनुमान जी के सामने सबसे बड़ी द्विधा आन खड़ी हुई क्योंकि वे तो आजीवन ब्रह्मचारी रहने का प्रण कर चुके थे.

उनकी इस दुविधा को देखकर भगवान सूर्यदेव ने उन्हें कहा कि आप मेरी पुत्री सुवर्चला से विवाह कर लो? हनुमान जी को यह अच्छी तरह से ज्ञात था की सूर्यपुत्री सुवर्चला तपस्विनी है. हनुमान जी से शादी होने के बाद सुवर्चला वापस तपस्या में लीन हो गई. इस तरह हनुमान जी ने विवाह की शर्त पूरी कर ली और ब्रह्मचारी रहने का व्रत भी कायम रखा.

पवनपुत्र हनुमान जी के विवाह का वर्णन पराशर संहिता में भी किया गया है. मान्यता है की हनुमान जी के इस मंदिर में जो भी दम्पति आकर इनका दर्शन करते हैं उनकी हर मनोकामना पूरी होती है और उनके वैवाहिक जीवन में प्रेम और आपसी तालमेल बना रहता है। वैवाहिक जीवन में चल रही परेशानियों से मुक्ति दिलाते हैं.