हरियाणा के छोरे का दिल आया पाकिस्तानी छोरी पर, दोनों देशों के तनाव के बीच दुल्हन बनकर आएगी भारत

हरियाणा के छोरे का दिल आया पाकिस्तानी छोरी पर, दोनों देशों के तनाव के बीच दुल्हन बनकर आएगी भारत

कहते हैं की जब दो दिलों में निकटता होती है तो सात समुद्र की दूरी भी कोई मायने नहीं रखती. ऐसा ही कुछ हरियाणा के परविन्द्र और पाकिस्तान की सरजीत किरण के...

मैं अगर तुम्हारी बहन को लेकर भाग जाऊं तो? सेलेक्ट होने वाले कंडीडेट का जवाब ये था
LIVE: पंचतत्व में विलीन मनोहर पर्रिकर, नम आँखों से हज़ारों लोगों ने दी अंतिम विदाई
सलमान खान के परिवार पर लगा एक और कलंक, अरबाज़ खान का नाम इस रैकेट से जुड़ा

कहते हैं की जब दो दिलों में निकटता होती है तो सात समुद्र की दूरी भी कोई मायने नहीं रखती. ऐसा ही कुछ हरियाणा के परविन्द्र और पाकिस्तान की सरजीत किरण के साथ हुआ और दोनों देशों की सीमायें और तनाव भी उन्हें दूर नहीं कर सकता. भारत और पाकिस्तान के बीच इन दिनों तनाव की स्थिति बनी हुई है. ऐसे में ये खबर कुछ ध्यान खींचती है.

दरअसल, हरियाणा के एक परिवार ने अपने बेटे परविन्द्र सिंह की शादी पाकिस्तान की एक टीचर के साथ तय कर दी है. अंबाला कैंट के गांव पीपला के रहने वाले परविंदर जल्द ही दूर की रिश्तेदार सरजीत किरण के साथ शादी के बंधन में बंध जाएंगे. परविन्द्र सिंह ने बताया की दोनों की पहली मुलाकात साल 2014 में हुई थी जब 27 साल की किरण भारत आईं थीं. पहली ही मुलाक़ात में दोनों एक दुसरे को दिल दे बैठे और साथ जीने मरने की कसमें खा ली. बता दें कि 33 साल के परविन्द्र एक निजी कंपनी में नौकरी करते हैं.Pakistani chhori

परविन्द्र सिंह ने एक प्रतिष्ठित न्यूज़ चैनल से बातचीत करते हुए बताया कि किरण का परिवार बंटवारे के वक्त पाकिस्तान चला गया था. पाकिस्तान के भारतीय हाई कमीशन द्वारा किरण के भारत का 45 दिन की वीजा जारी किया गया है जो कि जून 2019 तक है. इस दौरान पाकिस्तान के सियालकोट के वान गांव में रहने वाली किरण अपने परिवार के साथ भारत आएंगी.

गौरतलब है की साल 2003 में संसद भवन पर हमले के बाद पाकिस्तानी महिला से पहली बार शादी करने वाले गुरदासपुर जिले के चौधरी मकबूल अहमद थे. अहनद ने बताया कि परविन्द्र ने किरण से शादी को लेकर उनसे संपर्क किया था और इस बारे में राय मांगी थी. परविन्द्र ने पूछा था की दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है, तो ऐसे में शादी करना ठीक रहेगा या नहीं?

अहमद ने बताया कि 2001 में संसद भवन पर हुए हमले के बाद मैं पहला था जिसने पाकिस्तान की महिला से शादी रचाई थी. दोनों देशों के बीच हालिया तनाव के बाद परविन्द्र और किरण की शादी पहली होगी. उन्होंने कहा कि ये शादी दोनों देशों के बीच शादी का संदेश होगी. भले ही सरकारों के बीच मतभेद हो लेकिन आम आदमी शांति चाहता है.

COMMENTS

WORDPRESS: 2
DISQUS: 0