हत्या के आरोप में फंसे छात्र को यूं बचाया Google की गवाही ने

हत्या के आरोप में फंसे छात्र को यूं बचाया Google की गवाही ने

गूगल ने यूपी के एक छात्र को हत्या के आरोप फंसने से बचा लिया. दरअसल एक छात्र को पुलिस ने बीते वर्ष एक बच्चे की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया था. छात्...

सावधान: ब्लू व्हेल के बाद अब मोमो चैलेंज की भारत में दस्तक, राजस्थान की एक छात्रा की ले ली जान
धरण पड़ने अथवा नाभि खिसकने की समस्या, कारण और देशी कारगर उपचार
Internet Shutdown: अगले 48 घंटों में कभी भी बंद हो सकता है दुनियाभर का इन्टरनेट

गूगल ने यूपी के एक छात्र को हत्या के आरोप फंसने से बचा लिया. दरअसल एक छात्र को पुलिस ने बीते वर्ष एक बच्चे की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया था. छात्र के वकील ने गूगल की एक रिपोर्ट कोर्ट में पेश की जिसके अनुसार आरोपी छात्र हत्या के समय ऑनलाइन काम कर रहा था, और हत्या के वक्त वहां मौजूद नहीं था.

मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले का है. पिछले साल 20 अगस्त 2016 को पुलिस ने एक 11 वर्षीय बच्चे का शव बरामद किया था. बच्चे की हत्या कर शव फेंका गया था. पुलिस ने मामले की जांच करते हुए इस मामले में कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र जय प्रताप को गिरफ्तार किया था. जय ने उस समय अपने बचाव में कहा था कि घटना के समय वह एनिमेशन डिजाइन पर ऑनलाइन काम कर रहा था.

Most Popular Post: अब बिना इन्टरनेट के ही Google बताएगा आपको रास्ता, ऐसे करें इस्तेमाल

काफी मेहनत के बाद जय के परिजनों ने घटना के समय की लोकेशन, उसकी वर्किंग टाइम डिटेल्स और उन वेबसाइट्स की जानकारी जुटाई, जिन पर उसने उन दिनों विजिट किया था. इसके साथ साथ जय की ऑनलाइन हिस्ट्री भी जुटाई गई ताकि उसे बचाव के तौर पर डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में पेश किया जा सके. तय समय पर कोर्ट में गूगल की रिपोर्ट पेश की गयी जिसके अनुसार, जय का आईपी अड्रेस शाम 4 बजे से लेकर 11 बजे तक ऑनलाइन इस्तेमाल हुआ था.

जबकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक हत्या शाम 6 बजे के करीब हुई थी. सरकारी वकील ने जो सबूत कोर्ट में पेश किए वो पुलिस के दावों से मेल नहीं खा रहे थे और गूगल की रिपोर्ट के हिसाब से भी घटना के समय जय घटनास्थल पर मौजूद नहीं था. तमाम दावों और गूगल की रिपोर्ट को साक्ष्य मानते हुए डिस्ट्रिक्ट कोर्ट ने उक्त छात्र को निर्दोष करार दिया.

Most Popular Post: माँ बाप को मरे हो गया चार साल, अब लिया बेटे ने जन्म

COMMENTS