इंडियन आर्मी ने निभाया एक माँ से किया वादा, जानकार आप भी कायल हो जाओगे भारतीय सेना के

भारतीय सेना जब दुश्मन पर कहर बनकर टूटती है तो अच्छे-अच्छों को नानी याद आ जाती है. लेकिन बात जब मानवीय मूल्यों की हो तो इंडियन आर्मी का कोई सानी नहीं ह...

बीस साल बाद चारा घोटाला अध्याय का अंत, लालू यादव को मिली साढ़े तीन साल सजा
12वीं पास के लिए सुनहरा मौका- Security Force के 1500 पदों पर निकली वैकेंसी
जानिए कैसे बनाती है फेसबुक जैसी कंपनियां आपको बेवकूफ, कैसे होता है आपकी निजी जानकारी का दुरूपयोग?

भारतीय सेना जब दुश्मन पर कहर बनकर टूटती है तो अच्छे-अच्छों को नानी याद आ जाती है. लेकिन बात जब मानवीय मूल्यों की हो तो इंडियन आर्मी का कोई सानी नहीं है. ऐसी ही एक दिल को छू लेने वाली घटना पुलवामा के अवंतिपोरा में एनकाउंटर के दौरान देखने को मिली. रविवार शाम को सेना को सूचना मिली थी कि अवंतिपोरा में दो आतंकी छिपे हैं. आनन-फानन में सेना ने तैयारियां शुरू की और मौके पर पहुंचकर मोर्चा संभाल लिया. सेना ने एनकाउंटर शुरू किया तो सामने थे दो आतंकी- एक जैश ए मोहम्‍मद का पाकिस्‍तानी आतंकी और दूसरा कश्‍मीरी युवक सोहेल लोन.इंडियन आर्मी

कुछ ही देर में सेना ने जैश के आतंकी को ढेर कर दिया, जबकि आतंकी सोहेल लोन को जिंदा पकड़ा. सोहेल की जिंदगी सेना के लिए अहम थी, क्‍योंकि उन्‍होंने उसकी मां को वादा किया था कि उसे जिंदा पकड़ा जाएगा और भारतीय सेना ने एक माँ को किया अपना वादा निभाया और वादे के मुताबिक उसे जिंदा ही पकड़ा.

आपको बता दें कि सोहेल लोन चार महीने पहले ही आतंकी संगठन से जुड़ा था. सोहेल की मां और बहन ने उससे अपील की थी कि वह आतंकी संगठन छोड़कर घर वापस आ जाए. कर्नल राघव ने बताया कि सेना ने उसी दौरान सोहेल की मां से वादा किया था कि अगर उनके बेटे के साथ एनकाउंटर हुआ तो उसे जिंदा पकड़ा जाएगा. अवंतिपोरा में एनकाउंटर के दौरान सोहेल ने साथी आतंकी के साथ जवानों पर फायरिंग की, लेकिन सेना को अपना वादा याद रहा. एक मां से किया हुआ वादा कि उसके भटके हुए आतंकी बेटे को जिंदा पकड़ना है और सेना वादा निभाया.

गौरतलब है की सुरक्षाबलों ने अवंतिपोरा के खिरयू में रविवार को जैश-ए-मोहम्मद के एक पाक आतंकी को ढेर कर दिया वहीं एक को जिंदा पकड़ा है. सोमवार को लेफ्टिनेंट कर्नल समर राघव ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि सेना को खास सूत्रों से दो आतंकियों की लोकेशन मिली. जिनमें से एक आतंकी जैश ए मोहम्‍मद का जबकि दूसरा आतंकी स्थानीय था. सेना ने इलाके में तलाशी अभियान चलाया और आतंकियों से हुई मुठभेड़ में सेना ने पाकिस्तानी आतंकी को मार गिराया लेकिन सोहेल को जिन्दा ही पकड़ा. सेना को उनके कब्जे से ऐके-47 राइफल, 3 मैगजीन, 2 ग्रेनेड्स, 1 पिस्‍टल और दो मैगजीन मिली है.इंडियन आर्मी

कुछ दिनों पहले कश्‍मीरी महिला मयमूना मुश्‍ताक ने भी अपने बेटे से आतंक का रास्‍ता छोड़कर घर लौटने की अपील की थी. सोशल मीडिया पर बेटे के लश्‍कर में शामिल होने की खबरें देखने के बाद महिला ने बेटे से गुहार लगाई थी. इसी प्रकार से एक और मां ने बेटे से लौटने की अपील की थी और वो लौट भी आया था. हालांकि, सोहेल लोन अपनी मां की अपील पर लौटा तो नहीं, पर उसकी मां के प्‍यार ने उसे जिंदा जरूर रखा.

 

COMMENTS

DISQUS: 0