इस बार गणतंत्र दिवस की परेड नहीं देख पायेगी आम जनता, ये है कारण

इस बार गणतंत्र दिवस की परेड नहीं देख पायेगी आम जनता, ये है कारण

अगर आप इस बार गणतंत्र दिवस पर सेना की परेड देखने का मन बना रहे हैं तो ये खबर आपके काम की है. मीडिया ख़बरों के अनुसार इस बार गणतंत्र दिवस की परेड को आम ...

Whatsapp पर किससे होती है सबसे ज्यादा बातें, इस तरह से होंगे सारे राज उजागर
पति से संबंध बनाये बिना शादी के पांच साल बाद माँ बनी महिला, फिर भी अभी तक है कुंवारी
करवा चौथ व्रत से पहले महिलाएं जान लें पूजा का मुहूर्त, चन्द्रोदय का समय और व्रत का विधान

अगर आप इस बार गणतंत्र दिवस पर सेना की परेड देखने का मन बना रहे हैं तो ये खबर आपके काम की है. मीडिया ख़बरों के अनुसार इस बार गणतंत्र दिवस की परेड को आम पब्लिक नहीं देख पाएंगी. इस मुख्य कारण यह है कि, जिन स्टैंड से आम पब्लिक परेड देखती थी वह जगह इंडिया गेट के पास बनाए जा रहे वॉर मेमोरियल की वजह से आर्मी के अंडर में चली गई है. ये दो एनक्लोजर आम आदमियों के लिए रिजर्व रखे जाते थे.26 जनवरी

दिल्ली पुलिस इस बारे में सेना के आला अधिकारियों से बात कर रही है. दिल्ली पुलिस का कहना है कि, अगर यह जगह सेना के अंडर में चली जाएगी तो आम लोग रिपब्लिक डे की परेड कहां से देखेंगे. इस मामले में शुक्रवार को दिल्ली पुलिस के अधिकारियों और आर्मी के अफसरों के बीच एक मीटिंग हुई है. सूत्रों के अनुसार इस बैठक में भी किसी तरह का नतीजा नहीं निकल सका है.

आपको बता दें कि इंडिया गेट पर 13 और 14 नंबर के दोनों एनक्लोजर उन लोगों के लिए रखे जाते थे, जिनके पास वीआईपी या किसी भी तरह के पास नहीं होते थे. इससे पहले आम आदमी परेड देखने के लिए यहां सुरक्षा जांच के बाद पहुंच सकता था. फिलहाल इस बात पर चर्चा की जा रही है कि इन जगहों के लोगों को कहा पर एडजस्ट किया जा सकता है.26 जनवरी

ख़बरों के अनुसार इस बार 26 जनवरी पर ज्यादा खतरा मंडरा रहा है. हाल ही में एनआईए द्वारा अलग-अलग जगहों से पकड़े गए संदिग्ध से इस बात के संकेत मिले हैं कि वे 26 जनवरी पर आतंकी हमले की साजिश रच रहे थे. परेड की सुरक्षा को लेकर पुलिस, सेना और खुफिया एजेंसियां नयी रणनीति बना रही हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इन खतरों के चलते दिल्ली पुलिस की कदमताल टीम की ड्रेस में भी बदलाव किया जा सकता है.