हरियाणा: जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान दंगा मामला, तीन उपद्रवियों को उम्रकैद

हरियाणा: जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान दंगा मामला, तीन उपद्रवियों को उम्रकैद

फरवरी 2016, जब हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन की आग में जल रहा था, लेकिन कुछ असामाजिक तत्व प्रदेश को अस्थिर करने के लिए दंगा करने की फिराक थे. इन्हीं ल...

पाकिस्तान ने दी भारत को एक के बदले दस सर्जिकल स्ट्राइक की धमकी, LoC पर शुरू की फायरिंग
जींद उपचुनाव: पहली बार खिला कमल, 47 सालों से कोई भी नहीं तोड़ पाया ये रिकॉर्ड
एटीएम के साथ मिलती है इतनी सारी सुविधाएँ मुफ्त, लेकिन बैंक आपको कभी नहीं बताते

फरवरी 2016, जब हरियाणा में जाट आरक्षण आंदोलन की आग में जल रहा था, लेकिन कुछ असामाजिक तत्व प्रदेश को अस्थिर करने के लिए दंगा करने की फिराक थे. इन्हीं लोगों ने देखते ही देखते प्रदेश को दंगे की आग में झोंकने का प्रयास किया और जमकर तोड़फोड़ की. लेकिन अब अदालत ने उन्हें उनकी करनी की सजा देकर उन्हें उनकी सही जगह पहुंचा दिया है.jaat aandolan Haryana

हिसार के हांसी एरिया के एक गांव में फरवरी 2016 में जाट आरक्षण आंदोलन के वक्त हुए उपद्रव और फायरिंग मामले में अदालत ने दोषी ठहराए गए तीनों आरोपियों को अंतिम सांस तक जेल में रहने की सजा सुनाई है. उस दौरान गोलीबारी में लालपुरा के मिंटू की गोली मारकर हत्या की गई थी. अदालत ने तीनों दोषियों पर आजीवन कारावास के साथ ही 17 हजार 500 रुपए का जुर्माना भी लगाया है.

उपजिला न्यायवादी राजीव सरदाना ने कहा कि हिसार में एडीजे डीआर चालिया की अदालत ने इस मामले पर सजा का ऐलान किया है. कड़े पहरे के बीच मामले में संलिप्त सोनीपत के पवन उर्फ पोना, हांसी के सिसाय गांव निवासी दलजीत उर्फ जलजीत तथा दादरी के रहने वाले सुरेंद्र उर्फ झंडा को बुधवार को अदालत में पेश किया गया. अदालत ने तीनों दोषियों को अंतिम सांस तक जेल में रहने की सजा सुनाने के साथ ही उन पर जुर्माना भी लगाया है.jaat aandolan Haryana

गौरतलब है कि वर्ष 2016 में जब जाट आरक्षण आंदोलन हुआ था, तो उस दौरान हांसी इलाके में भीड़ द्वारा तोड़-फोड़ करते हुए उपद्रव को अंजाम दिया गया था. इस दौरान मिंटू नामक एक शख्स की मौत हो गई थी. मिंटू का शव 23 फरवरी 2016 को मिला था, उस वक्त हालात यह हो गए थे कि मामले की नजाकत को समझते हुए हांसी में पुलिस के साथ-साथ सेना को भी तैनात करना पड़ा था. उस वक्त विवाद सिसाय और सैनीपुरा-ढाणीपाल गांवों के ग्रामीणों के बीच हुआ था. इस मामले में हांसी पुलिस ने मामला दर्ज़ कर जांच शुरू की थी.

COMMENTS